इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि PM Awas Yojana Indore। प्रधानमंत्री आवास योजना से संबंधित नगर निगम के चार प्रोजेक्ट तय समय सीमा से एक से डेढ़ साल पिछड़ गए हैं। इस वजह से विस्थापित होने वाले लोगों को ट्रांजिट हाउस में दिन गुजारना पड़ रहे हैं। चींटी की चाल से चल रहे इन प्रोजेक्टों में गति लाने के लिए खुद निगमायुक्त प्रतिभा पाल को नए सिरे से समय सीमा करवानी पड़ी है। जो प्रोजेेक्ट ज्यादा पिछड़े हैं, उनमें भूरी टेकरी, देवगुराड़िया, बुढ़ानिया और बुढ़ानिया एक्सटेंशन जैसे प्रोजेक्ट शामिल हैं। देरी की अहम वजह लाकडाउन और मजदूरों की कमी बताई जा रही है, लेकिन अब अनलाक के साथ अब यह समस्या दूर हो गई है।

निगमायुक्त ने संबंधित इंजीनियरों और ठेकेदार एजेंसियों को निर्देश दिए हैं कि ज्यादातर फ्लैट जुलाई से दिसंबर के बीच बनाकर तैयार कर दिए जाएं। इन फ्लैटों का निर्माण इसलिए जरूरी है, क्योंकि इनकेे बगैर लोगों के विस्थापन में बड़ी समस्या आती है। फ्लैट तैयार नहीं होने से विभिन्न योजनाओं के कारण विस्थापित हुए परिवारों को ट्रांजिट हाउस में रखना पड़ता है।

वहां मूलभूत सुविधाएं भी ढंग से नहीं होती और अक्सर लोग हंगामा करते रहते हैं। कई परिवार सालभर से ज्यादा समय से ट्रांजिट हाउस में समय बिता रहे हैं और उन्हें पक्की छत मिलनेे का इंतजार है। निगम अफसरों का कहना है कि चारों जगह मिलाकर करीब ढाई हजार फ्लैट बनाए जा रहे हैं, जिनमें कमजोर आय वर्ग (ईडब्ल्यूएस), निम्न आय वर्ग (एलआइजी) और मध्यम आय वर्ग (एमआइजी) के फ्लैट शामिल हैं।

कहां-कब तक बढ़ाया समय

- भूरी टेकरी में ईडब्ल्यूएस श्रेणी के 13 ब्लाक में 800 से ज्यादा फ्लैट बनाए जा रहे हैं। पहले काम नहीं करने वाली एक एजेंसी को निगम हटा चुका है। 2019 से नई एजेंसी नेे फ्लैट निर्माण का ठेका लिया था। प्रोजेेक्ट की समय सीमा सवा साल पहले खत्म हो गई है। अब आयुक्त ने एजेंसी को बचा काम पूरा करने के लिए दिसंबर-20 तक का समय दिया है।

- भूरी टेकरी में एलआइजी और एमआइजी श्रेणी के फ्लैट छह ब्लाक में बनाए जा रहे हैं। उन्हें पूरा करने के लिए आयुक्त ने एक साल की समय सीमा दी है।

- देवगुराड़िया में ईडब्ल्यूएस और एलआइजी श्रेणी के 384 फ्लैट डेढ़ साल पहले बन जाने चाहिए थे। हालांकि, अब इनका काम अंतिम चरण में है। ठेकेदार एजेंसी ने फ्लैट तैयार करने के लिए डेढ़ महीने का समय मांगा था, लेकिन आयुक्त नेे 20 जुलाई तक फ्लैट तैयार करने के निर्देेश दिए हैं।

- बुढ़ानिया स्थित सतपुड़ा परिसर में निगम 11 ब्लाक में ईडब्ल्यूएस श्रेणी के 1000 फ्लैट बना रहा है। यह प्रोजेक्ट भी सवा साल से ज्यादा पिछड़ चुका है। एजेंसी को दिसंबर तक काम पूरा करनेे को कहा गया है।

- बुढ़ानिया एक्सटेंशन (पितृ पर्वत) में ईडब्ल्यूएस श्रेणी के 256 फ्लैट बनाए जा रहे हैं। इसकी समय सीमा भी गुजर चुकी है। आयुक्त ने 20 जुलाई तक बचा काम पूरा करने को कहा है।

अब तेेजी से होगा काम

निगम के अधीक्षण यंत्री महेश शर्मा ने माना कि आवास योजना के तहत बन रहे फ्लैटों का काम बहुत ज्यादा पिछड़ा है। उन्होंने बताया कि निगमायुक्त ने हाल ही में फ्लैट बना रही एजेंसियों की बैठक लेकर नए सिरेे से समय सीमा तय करवाई है। अनलाक के साथ अब एजेंसियों को मजदूरों और मटेरियल आदि की समस्या भी खत्म हो गई है। अब फ्लैटों का निर्माण तेजी से होगा।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags