Radha Ashtami 2021 Indore: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कृष्ण जन्माष्टमी के पंद्रह दिनी बाद राधाष्टमी मंगलवार को हर्षोल्लास से मनाई जाएगी। इस मौके पर महिलाएं भगवान कृष्ण का आशीष पाने के लिए व्रत रखकर राधा रानी का पूजन करेगी। जानकीनाथ मंदिर गोराकुंड में राधा-कृष्ण की प्राचीन मूर्ति का शृंगार कर आरती-पूजन होगा। इसके साथ ही सात दिनी भागवत कथा की शुरुआत भी होगी।

ज्योतिर्विद् आचार्य शिवप्रसाद तिवारी ने बताया कि अष्टमी तिथि 14 सितंबर को दोपहर एक बजकर नौ मिनिट तक रहेगी। इस व्रत को करने से सभी पापों का नाश होता है। यह व्रत विवाहित महिलाएं अखंड सौभाग्य और संतान प्राप्ती के लिए करती है। कहा जाता है कि जो लोग राधा को प्रसन्न करते है उनसे भगवान कृष्ण स्वत: प्रसन्न हो जाते हैं।

माहेश्वरी साढ़े सात सौ पंचायती ट्रर्स्ट के अध्यक्ष रमेश सी बाहेती ने बताया कि विगत 50 वर्षों से मंदिर पर राधाष्टमी के दिन से सात दिनी भागवत कथा आयोजित की जा रही है। गत दो वर्ष से करोना के कारण कथा नहीं हो पाई। इस वर्ष दोबारा सात दिनी भागवत कथा 14 सितंबर से होगी। कथा प्रतिदिन दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक भागवताचार्य अनुराग मुखिया के के मुखारबिंद से होगी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local