Rain in Malwa Nimar: मालवा-निमाड़ (टीम नईदुनिया)। अंचल में रविवार को भी वर्षा का दौर जारी रहा। शनिवार रात हुई वर्षा और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। गेहूं की फसल आड़ी हो गई। कटी फसल में दाने की क्वालिटी खराब होने की भी आशंका बढ़ गई।

भारतीय किसान संघ के पदाधिकारी जल्दी सर्वे की मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं। फसल देखकर किसानों की आंखों में आंसू हैं। इधर, देवास जिले के जामली गांव के निवासी 17 वर्षीय पंकज सेंधव खेती कार्य करते समय शनिवार शाम आकाशीय बिजली की चपेट में आ गया। इससे उसकी मौत हो गई।

खंडवा जिले में जिले में करीब 800 एकड़ में तरबूज और 200 एकड़ में प्याज की फसल नष्ट होने का अनुमान लगाया जा रहा है। राजस्व और उद्यानिकी विभाग की टीम खेतों में सर्वे कर नष्ट फसलों का आकलन करने में जुट गई है।

कृषि उपसंचालक केसी वास्केल ने बताया कि जिले में 20 फीसद किसान ऐसे हैं जिन्होंने मौसम को देखते हुए फसल नहीं काटी है। काटकर रखी गई गेहूं की फसल यदि भीगी है तो गेहूं की चमक फीकी पड़ने का अंदेशा रहेगा। बुरहानपुर में सैकड़ों हेक्टेयर फसलें बर्बाद हो गई है।

रविवार सुबह खेतों में पहुंचे किसानों की आंखों से आंसू निकल आए। दल सोमवार से गांवों में जाकर फसलों की स्थिति देखेगा। खरगोन जिले में भी आंधी, बारिश और ओलों ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया। बड़वानी जिले में रविवार दोपहर पहाड़ी क्षेत्र में आंधी चली।

गांव सेमलेट में आकाशीय बिजली गिरने से तीन गोवंशी की मौत हो गई। मंदसौर के नगरी, कचनारा व लसूड़िया इला में किसान रविवार को बची-कुची फसलों को समेटते रहे। जिला प्रशासन फिलहाल नजरी सर्वे करा रहा है। झाबुआ में कृषि उपसंचालक नगीन रावत का कहना है कि फिलहाल सर्वे को लेकर कोई आदेश नहीं मिले हैं।

बड़वानी ब्रेकिंग, अपडेट खबर डिजिटल के लिए...

आकाशीय बिजली गिरने से युवक की मौत, एक घायल

बड़वानी जिले में रविवार दोपहर को शहर में बादलों का डेरा रहा वहीं पहाड़ी क्षेत्र में आंधी चली। वहीं पहाड़ी क्षेत्र में बिजली की गरज चमक के साथ वर्षा हुई। राजपुर थाना क्षेत्र के रणगांव रोड पर आकाशीय बिजली गिरने से एक युवक की मौत हो गई और एक व्यक्ति घायल हो गया जिसे उपचार के लिए जिला अस्पताल रैफर किया गया। वहीं तीन अन्य युवक भी चपेट में आए। हालांकि इन्हें चोट नहीं आई।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

Mp
Mp
  • Font Size
  • Close