इंदौर। वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक सुसाइड केस में मुंबई से गिरफ्तार सलोनी अरोरा को 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। मुंबई से गिरफ्तार कर इंदौर लाई गई सलोनी को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। मामले में पूछताछ के लिए सलोनी का रिमांड मांगा था। कोर्ट ने सलोनी को 5 दिनों के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

आपको बता दें कि पुलिस रविवार सुबह सलोनी को लेकर इंदौर ले आई। मामले को लेकर डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने बताया कि सलोनी अरोरा द्वारा 5 करोड़ के लिए लगातार दी जा रही मानसिक प्रताड़ना और धमकी के कारण कल्पेश याग्निक ने छत से कूदकर खुदकुशी की थी।

घटना स्थल से मिले साक्ष्यों एवं अन्य सबूतों के आधार पर पुलिस इस निष्कर्ष पर पहुंची कि कल्पेश यागनिक की मृत्यु दुर्घटनावश न हो कर आत्महत्या है। इस बात के सबूत छत पर लगे एसी की यूनिट पर बने जूतों के निशान थे, जिनका मिलान उनके मौके से मिले पहने हुए जूतों से किया जाने पर सही पाया गया।

इस संबंध में पुलिस द्वारा कार्यालय परिसर में लगे वीडियो कैमरे के फुटेज प्राप्त किए व चौकीदार एवं अन्य सहकर्मियों से पूछताछ की गई ताकि मृत्यु के सही कारण का पता लग सके। इसके अलावा परिजनों से तत्काल बातचीत व पूताछ करने का प्रयास किया गया।

पत्रकार कल्पेश याग्निक को ब्लैकमेल करने वाली पत्रकार सलोनी अरोरा को पुलिस ने शनिवार शाम मुंबई से पकड़ लिया था। गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने सादे कपड़ों में सलोनी के बेटे का पीछा किया। जैसे ही वह उससे मिलने पहुंची, उसे पकड़ लिया।

पुलिस ने सलोनी को मीडिया के सामने पेश किया। लेकिन वो पूरे समय अपना मुंह छिपाती रही। मीडियाकर्मियों ने उससे सवाल भी करना चाहे लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया।

पुलिस ने दोपहर में उसे कोर्ट में पेश किया। पुलिस ने अदालत से कहा कि मामले की विवेचना में सलोनी से पूछताछ की जाना है लिहाजा पुलिस रिमांड दिया जाए। इस पर कोर्ट ने सलोनी को 5 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। अब सलोनी से पूछताछ के आधार पर पुलिस मामले की विवेचना आगे बढ़ाएगी।

डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र के मुताबिक पुलिस सलोनी का 15 दिन से पीछा कर रही थी। भाई, बहन, जीजा, दोस्तों सहित करीब 150 लोगों की कॉल डिटेल निकाली गई। इसी दौरान दिल्ली में रहने वाले मामा का नंबर हाथ लगा। उस नंबर को निगरानी में रखा गया तो पता चला सलोनी मेरठ में है।

पुलिस वहां पहुंची, लेकिन एक दिन पूर्व ही वह दिल्ली होते हुए मुंबई पहुंच गई। उधर, पुलिस को जानकारी मिली थी कि सलोनी का बेटा मुंबई में अंधेरी स्थित नामी कोचिंग में पढ़ाई कर रहा है। पुलिसकर्मी सादे कपड़ों में कोचिंग के बाहर खड़े रहे और बेटे की रेकी करने लगे।

कॉल रिकॉर्डिंग से पता चला कि सलोनी शनिवार को बेटे से मिलेगी। शाम को उसका बेटा कोचिंग से पनवेल के लिए रवाना हुआ। जैसे ही सलोनी उससे मिली, पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस