इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Sangeet Indore News। ख्यात गायक मो. रफी की पुण्यतिथि पर शहर में शनिवार की शाम संगीत और सम्मान समारोह आयोजित हुआ। संस्था उत्कर्ष द्वारा यह कार्यक्रम माई मंगेशकर सभागृह में हुआ। आयोजन के दौरान न केवल स्थानीय कलाकारों ने मो. रफी के गीतों को प्रस्तुत किया बल्कि शहर की गायिका स्मिता मोकाशी को उत्कर्ष रफी सम्मान से अलंकृत भी किया गया। यह सम्मान उन्हें संगीत के क्षेत्र में दिए जा रहे योगदान के लिए दिया गया।

आयोजन में विवेक वाघोलीकर, राजेंद्र गलगले, स्मिता पानसे, नुपूर पंडित, मानसी खानवलकर और इंद्रजीत गौड़ ने एक से बढ़कर एक गीत पेश किए। युगल और एकल प्रस्तुतियों से सजे कार्यक्रम में राजेंद्र ने 'मैं कौन हूं मैं कहां हूं" गीत पेश किया तो विवेक वाघोलीकर ने 'गम उठाने के लिए मैं तो जिए जाउंगा" गीत सुनाते हुए कार्यक्रम को गति प्रदान की। इंद्रीज और स्मिता की जोड़ी ने 'दो घड़ी वो जो पास आ बैठे" गीत सुनाया।

युगल प्रस्तुतियों में ही विवेक और मानसी ने 'मुझे प्यार की जिंदगी देने वाले", राजेंद्र और नुपूर ने 'जमीं से हमें आसमान" गीत पेश किया। कलाकारों ने 'छुपने वाले सामने आ, चांद भी हैं तारे भी हैं, रंग और नूर की बारात, ये पर्वतों के दायरे, तकदीर का फसाना" सहित कई यादगार गीत पेश किए। कार्यक्रम का संचालन मेघा खानवलकर ने किया। अतिथि स्वागत प्रकाश खानवलकर ने किया। अभार अविनाश भांड ने माना।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local