इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Illegal Liquor Indore। जिले के ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्र में किराना व्यवसायी किराना सामान के साथ महुआ भी बेच रहे हैं। यह महुआ ग्रामीण क्षेत्र में अवैध शराब बनाने में इस्तेमाल हो रहा है। अवैध हाथ भट्टी मदिरा के निर्माण में उपयोग में आने वाले महुआ लहान की बिक्री को रोकने के उद्देश्य से कलेक्टर मनीष सिंह के आदेश पर शनिवार को महू के महुआ व्यापारियों को हिदायत दी गई कि वे हाथ भट्टी से शराब बनाने वालों को महुआ ना बेचें। साथ ही राजस्व विभाग के अमले के साथ उक्त दुकानों पर रखे महुआ लहान को सील किया गया।

सहायक आयुक्त आबकारी राज नारायण सोनी ने बताया है कि महू के गोकुलगंज में दो दुकानें और सिमरोल में चार दुकानों पर रखे महुआ लहान को अस्थायी रूप से आगामी आदेश तक सील किया गया है। आबकारी विभाग की संयुक्त टीमों ने चोरल से लेकर सिमरोल तक के सभी ढाबों की जांच की है। आबकारी विभाग ने जिला प्रशासन की टीम के साथ सिमरोल के महुआ व्यवसायियों के यहां महुआ विक्रय केंद्र की भी जांच की गई। जांच में पाया गया कि किराना व्यवसायियों के यहां से महुआ आदिवासी और ग्रामीण क्षेत्रों में अवैध शराब बनाने के लिए बेचा किया जा रहा है। इस तरह की शिकायतें मिलने पर जिला प्रशासन की टीम सतर्क है। पिछले दिनों सांवेर, महू, निरंजनपुर, लिंबोदी, राऊ, बीजलपुर आदि क्षेत्रों में भारी मात्रा में महुआ से बने लहान और कच्ची शराब जब्त की गई थी। इसको देखते हुए इसमें उपयोग होने वाले आधारभूत सामग्री महुआ को विक्रय से नियंत्रित किया जाने का संकल्प जिला प्रशासन द्वारा लिया गया है।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags