इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। उत्तर प्रदेश के महरौनी से इंदौर आ रही बस रास्ते में खुरई स्थित एक ढाबे पर रुकी। बस चली तो उसमें चढ़ते समय एक यात्री स्कीम 78 निवासी हीरालाल पुत्र धनसिंह साहू को कुचल दिया। किसी को पता न चले इसलिए यात्री के शव को बस में रखा और इंदौर तक लेकर आ गए। यहां आकर चालक और कंडक्टर दोनों भाग गए और बस दूसरे ड्रायवर को सौंप दी। बस में बैठे एक परिचित हीरालाल की पहचान के थे, उन्होंने स्वजनों को सूचना दी। बस रिंग रोड पहुंची तो परिवार के लोगों ने बस को कब्जे में लिया और उसे लसूड़िया थाने लेकर पहुंचे। यहां स्वजनों ने बस चालक के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

हीरालाल के भतीजे धर्मेन्द्र ने बताया कि सुबह करीब 10 बजे सूचना मिली थी कि उनके चाचा को बस ने कुचल दिया है। बस के चालक उनका शव लेकर इंदौर आ रहे हैं। सूचना मिलते ही सभी रिंग रोड पहुंचे और यहां हीरालाल के भतीजे व अन्य स्वजन मौके पर पहुंचे और बस सीधे लसूड़िया थाने ले पहुंचे।

धर्मेन्द्र ने बताया कि उनका पुश्तैनी घर महरौनी में है। इंदौर में वे 8 साल से स्कीम 78 में रह रहे हैं और सब्जी का कारोबार करते हैं। वे बुधवार शाम को 8:30 बजे वाली शिव शक्ति बस सर्विस की बस क्रमांक यूपी 94 टी 4697 में बैठे थे। रात करीब ढाई बजे बस जिला सागर की तहसील खुरई स्थित एक ढाबे पर रुकी थी। वे बस में चढ़ने के लिए आ रहे थे कि चालक ने बस अचानक पीछे ले ली, बस का पहिया उनके पैरों पर चढ़ गया और उनकी मौत हो गई।

ड्राइवर और कंडक्टर ने शव बस में रखा और इंदौर ले आए। रास्ते में सभी यात्रियों को उतारा और रिंग रोड पर बस दूसरे ड्रायवर के हवाले कर दी और दोनों आरोपित चालक व कंडक्टर भाग गए। यहां पुलिस को शिकायत की और केस दर्ज कराया। भतीजे धर्मेन्द्र ने बताया कि हीरालाल का पत्नी और एक बच्चा है, जो भोपाल में रहते हैं। सूचना मिलने पर वे भी इंदौर आ गए हैं। पुलिस ने मर्ग कायम कर, शव का पोस्टमार्टम कराया। पुलिस ने बस को कब्जे में लेकर चालक को हिरासत में ले लिया है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local