इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Sero Survey Indore। इंदौर जिले में कोविड की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर बच्चों में एंटीबाडी की जांच के लिए 25 वार्डों का चयन लाटरी निकालकर किया गया। इंदौर में 18 साल से कम उम्र के आठ से 10 लाख बच्चे हैं, जिनमें से दो हजार से कम के सैंपल लिए जाने हैं। वार्डों का चयन रेसीडेंसी कोठी में सांसद शंकर लालवानी, मंत्री तुलसीराम सिलावट, संभागायुक्त डा. पवन कुमार शर्मा और कलेक्टर मनीष सिंह की उपस्थिति में किया गया। संभागायुक्त डा. शर्मा ने बताया पिछले वर्ष अगस्त में लगभग सात हजार महिला-पुरुष और बच्चों का सीरो सर्वे कराया था। उसमें भी लगभग 2300 बच्चे शामिल थे। तब कोरोना के कारण लोग सर्वे में शामिल होने से संकोच कर रहे थे, इसलिए सैंपल लेने में परेशानी आई थी। अब लोगों में संकोच कम हो रहा है। इस कार्य में एनजीओ का सहयोग भी लिया जाएगा। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया घर-घर जाकर सैंपलिंग के लिए 40 टीम बनाई जा रही हैं। सैंपल की जांच चोइथराम, सीएचएल व अरबिंदो अस्पताल में कराई जाएगी। उसके बाद मेडिकल कालेज के डीन विश्लेषण करेंगे।

तीसरी लहर में बच्चों और गर्भवती माताओं के प्रभावित होने की आशंका को देखते हुए व्यापक इंतजाम किए जा रहे हैं। इनके इलाज के लिए प्राइवेट और शासकीय अस्पतालों में लगभग 1800 आक्सीजन बेड/आइसीयू आरक्षित किए गए हैं। चयनित 50 फीसद अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट लग गए हैं। शेष में काम तेजी से जारी है। 18 वर्ष से अधिक के लगभग 87 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण हो गया है। शेष 13 प्रतिशत के लिए भी अभियान जारी है। संभागायुक्त ने शनिवार को रेसीडेंसी कोठी में इस सर्वे से जुड़े अधिकारियों और निजी लैब संचालकों की बैठक कर सीरो सर्वे की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने निजी लैब संचालकों को सैंपल का टेस्ट जल्दी कर परिणाम भी तुरंत देने के निर्देश दिए।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local