इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,Sikh society Indore News। गुरु गोविंद सिंह सिर्फ इसलिए ही नहीं पूजे जाते क्योंकि उन्होंने न सिर्फ सिख संप्रदाय के लिए काम किया है बल्कि उन्होंने संपूर्ण मानव समाज के हित में प्रयास किया। गुरु केवल इसलिए नहीं कहलाए क्योंकि उन्होंने किसी एक पंथ को राह दिखाई। गुरु गोविंद सिंह संपूर्ण मानवतावादी थे। उन्होंने विश्व को ध्यान में रखते हुए कदम बढ़ाए हैं। उनका व्यक्तित्व बहुआयामी था। यह बात डॉ.शाहबुद्दीन नियाज शेख ने 'गुरु गोविंद सिंह: साहित्य, दर्शन और संस्कृति में योगदान" विषय पर हुई संगोष्ठी में कही। गुरु गोविंदसिंह जयंती के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना पंजाब इकाई द्वारा वेब संगोष्ठी आयोजित की गई। इसमें देश के विभिन्न शहरों के वक्ता शामिल थे।

गाजियाबाद की रहने वाली डॉ. रश्मि चौबे ने कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना से किया। इसके बाद रायपुर की शिक्षाविद् डॉ.मुक्ता कान्हा कौशिक ने शिक्षक संचेतना ध्येय गीत की प्रस्तुति दी। संगोष्ठी के मुख्य अतिथि इंदौर के वरिष्ठ साहित्यकार हरेराम वाजपेई थे। हरेराम वाजपेई ने कहा कि गुरु गोविंदसिंह एक ऐसा नाम व व्यक्तित्व है, जिसमें गुरु और गोविंद दोनों ही समाए हुए हैं। उन्होंने मानव के रूप में ईमानदारी से काम करने का पाठ पढ़ाया तो गुरु के रूप में आध्यात्म और मानवसेवा की भावना को मानव तक पहुंचाने का काम किया। मुख्य वक्ता डॉ. शैलेंद्र शर्मा ने कहा कि गुरु गोविंदसिंह ने निर्गुण-सगुण के बीच में संबंध बताया। उन्होंने समझाया कि जिस तरह सारे रंग इंद्रधनुष में मिल जाते हैं उसी प्रकार जीवन भी ईश्वर में विलीन हो जाता है।

विशेष अतिथि डॉ.पूनम गुप्ता ने गुरू गोविंद सिंह के सामाजिक दृष्टिकोण के प्रबल होने की बात कही। संगोष्ठी में राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी, डॉ. दीपिका सिसोदिया, गरिमा गर्ग, डॉ.राजेंद्र सेन, डॉ.प्रवीण बाला, डॉ.विनोद विश्नोई, डॉ.राजेंद्र साहिल आदि ने भी विचार व्यक्त किए। संचालन पूर्णिमा कौशिक ने किया। आभार डॉ.प्रभु चौधरी ने माना।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags