Super 100 School: उदय प्रताप सिंह, इंदौर। प्रदेशभर से सुपर 100 योजना के तहत चुनकर इंदौर में पढ़ने के लिए आए मेधावी छात्रों को मल्हार आश्रम स्कूल में गुणवत्तापूर्ण भोजन भी नहीं मिल पा रहा है। यहां के छात्रों का कहना है कि भोजन में कच्चे चावल, पनियल दाल और सब्जियां खाने को दी जाती हैं। तीन से चार छात्र फूड पायजनिंग के कारण बीमार भी हुए।

छात्रावास में रहने वाले छात्र महेश्वर शुक्ला के मुताबिक यहां रहने वाला एक छात्र मयूर पटवा फूड पायजनिंग के कारण गंभीर रूप से बीमार हुआ और आखिरकार उसे उपचार के लिए अपने घर जाना पड़ा। इसके अलावा दो से तीन छात्र भी यहां खाने के कारण बीमार हो चुके हैं। शिक्षक मेस में भोजन व्यवस्था जांचने आते हैं, तब उन्हें पनीर और मिठाई खिला दी जाती है। हमें हो हमेशा पानी वाली दाल और सब्जी ही खाने को मिलती है। मल्हार आश्रम स्कूल व छात्रावास के पास जगह-जगह कचरे के ढेर लगे है। यहां गीला-सूखा कचरा भी अलग-अलग नहीं रखा जा रहा है।

रात में असामाजिक तत्वों का डेरा

छात्र सौरभ व आशीष कुशवाह का कहना है कि स्कूल परिसर में रात में असामाजिक तत्व आते हैं। कई लोग स्कूल परिसर में शराबखोरी और सिगरेट पीते हैं। छात्र व परिसर की सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड भी नहीं रहता है।

मैं छात्रों को बेहतर भोजन देता हूं। स्कूल के शिक्षक व प्राचार्य भी छात्रों के लिए बने भोजन को चख चुके हैं। उन्हें कभी शिकायत नहीं हुई। उनके लिए अलग से भोजन नहीं बनाया जाता।

-राजाराम जैन, मेस संचालक, मल्हार आश्रम छात्रावास

छात्रों द्वारा भोजन की खराब गुणवत्ता की शिकायत मिली है। जल्द ही नए सिरे से मेस का टेंडर जारी होगा। मैंने भी मेस में भोजन किया है, कभी पनीर नहीं मिला। छात्रों को जो भोजन मिलता है, वह ही चखा। स्कूल परिसर की सफाई के लिए निगम को पत्र लिखा है। सुरक्षा गार्ड का प्रबंध भी करेंगे।

-एसएन मंडलोई, प्राचार्य शा. बहु उद्देश्यीय मल्हार आश्रम उमा विद्यालय

शासन स्तर पर छात्रावास में रहने वाले एक छात्र के एक माह के भोजन व नाश्ते के 1880 रुपये मेस संचालक को दिए जाते हैं। इतनी कम राशि में छात्रों को हम गुणवत्ता पूर्ण भोजन कैसे दें। मैंने शासन स्तर पर भोजन राशि का आवंटन बढ़ाने के लिए पत्र लिखा है। मेस संचालक का ठेका रिन्यू करने के बारे में मुझे जानकारी नहीं। मैं प्राचार्य से चर्चा करूंगा।

-मंगलेश व्यास, जिला शिक्षा अधिकारी

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close