इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि । गले में स्टेथोस्कोप लटकाए मरीज की जान बचाने की कवायद में जुटे डॉक्टरों को तो आप किसी भी अस्पताल में देख सकते हैं, लेकिन रविवार की शाम आपको डॉक्टरों का एक अलग ही रूप देखने को मिलेगा। जोश और उत्साह से भरे डॉक्टर मंच पर अपने ही साथियों की फरमाइश पर उनके मन पसंद गाने सुनाएंगे। नाचते-गाते, बच्चों की तरह मस्ती करते वरिष्ठ डॉक्टरों को देखने का मजा कुछ और रहेगा।

दरअसल एमजीएम मेडिकल कॉलेज के पूर्व छात्रों का मिलन समारोह यानी एलुमनी मीट रविवार को है। एमजीएम मेडिकल कॉलेज से डॉक्टरी की पढ़ाई करने वाले डॉक्टर इसमें शामिल होंगे। अध्यक्ष डॉ.दिलीप आचार्य और संचालक डॉ.संजय लोंढे ने बताया कि कार्यक्रम में 1968 बेच से लेकर 2005 तक की बेच के डॉक्टर शामिल हो रहे हैं।

तीन सत्रों में होगा कार्यक्रम

डॉ. लोंढे ने बताया कि कार्यक्रम तीन सत्रों में होगा। पहले सत्र रविवार दोपहर ढाई बजे से होगा। इसमें एमजीएम मेडिकल कॉलेज के पीजी छात्र शोध पत्रों का प्रस्तुतिकरण करेंगे। आठ मेडिकल विषयो के 28 छात्र इसमें भाग लेंगे। सर्वश्रेष्ठ शोध पत्र को पुरस्कृत किया जाएगा। दूसरे सत्र में शाम 5.30 बजे मेडिकल कालेज के पूर्व छात्र जो साइकिलिंग, मैराथन रेस, टू व्हीलर पर लंबी दूरी तय कर चुके हैं को सम्मानित किया जाएगा। इसमें 12 डॉक्टरों को सम्मानित किया जाएगा। तीसरा सत्र शाम छह बजे से होगा। इसमें फिल्म संगीत प्रतियोगिताएं होंगी। डॉक्टर वादन, युगल गीत, समूह गीत प्रस्तुत करेंगे।

दशकों पुरानी है परंपरा

डॉ. लोंढे ने बताया कि हर साल दिसंबर के पहले रविवार को एमजीएम मेडिकल कॉलेज के पूर्व छात्रों का मिलन समारोह होता है। यह परंपरा दशकों पुरानी है। महामारी के चलते दो साल से यह कार्यक्रम नहीं हो पा रहा था। इस साल इसे लेकर डॉक्टरों में बहुत उत्साह है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local