उदय प्रताप सिंह, इंदौर Constitution First Page Indore। भारत के संविधान का पहला पन्ना जो बना था, वह आज तक चितावद स्थित आनंद नगर में रहने वाले भार्गव परिवार के घर में आज भी मौजूद है। दरअसल संविधान के कवर पर अंशोक स्तंभ की डिजाइन इंदौर के चित्रकार दीनानाथ भार्गव ने तैयार की थी। उनका निधन 24 दिसंबर 2016 को हो गया, लेकिन उनकी पत्नी प्रभा भार्गव व बेटे सौमित्र ने आज भी दीनानाथ भार्गव की उन यादगार स्मृतियों को सहेजकर रखा है।

वर्ष 1948 में निर्मित भारत के संविधान की मूल प्रति ललित कला एकेडमी, दिल्ली में रखी है। जब इसे तैयार किया जा रहा था, उस समय इसे तैयार करने वाली टीम में इंदौर के चित्रकार दीनानाथ भार्गव भी शामिल थे। तब वे शांति निकेतन में फाइन आर्ट के द्वितीय वर्ष के छात्र थे। उन्हें 1949 में सरकार ने 12 हजार रुपये पारिश्रमिक का भुगतान किया था। संविधान के कवर पर पहली बार में सोने के वर्क से अशोक स्तंभ का जो चित्र बनाया गया था, उस पर काली स्याही का ब्रश गिर गया था। इस वजह से उन्होंने ठीक वैसा दूसरा चित्र तैयार किया, जो भारतीय संविधान की पुस्तक में लगा है।

एक माह तक चिड़ियाघर में जाकर शेरों की भाव-भंगिमा का किया था अध्ययन

स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू ने संविधान की डिजाइनिंग के लिए गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर के शांति निकेतन में 230 पृष्ठ भेजे थे। तब कला भवन के प्राचार्य नंदलाल बोस ने संविधान के सभी पन्नों पर आउटलाइन व मुख्य पृष्ठ तैयार करने के लिए 12 होनहार छात्रों को चुना था। इनमें दीनानाथ भार्गव भी एक थे। उनकी डिजाइन अन्य छात्रों से बेहतर थी। इस कारण बोस ने अशोक स्तंभ व 20 पृष्ठों के आउटलाइन डिजाइन की जिम्मेदारी उन्हें सौंपी थी। कवर पेज पर अशोक स्तंभ बनाने के पहले दीनानाथ भार्गव ने एक महीने तक कोलकता के जू में जाकर शेरों के हाव-भाव, डील-डौल और भाव भंगिमाओं का अध्ययन किया था।

स्वजन बोले- भार्गव की याद को चिर स्थायी बनाए सरकार

सौमित्र भार्गव के अनुसार मेरी प्रशासन व जन प्रतिनिधियों से अपील है कि मेरे पिताजी की यादगार में शहर में किसी चौराहे का नाम रखा जाए। इसके अलावा अभी शहर में जो नई कला वीथिका बन रही है उसका नाम या किसी गैलरी का नाम उनके नाम पर रखा जाए। सरकार की ओर से कुछ ऐसा प्रयास किया जाए, दीनानाथ भार्गव की याद चिर स्थायी रह सके।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags