इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भंवरकुआं थाना क्षेत्र में रहने वाले राकेश हसीजा ने संयोगितागंज थाने में एक लाख 34 हजार रुपये की धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। राकेश ने बताया कि उनके साथ युवती ने वीडियो कालिंग कर विश्वास दिलाया कि वह एसबीआइ बैंक से बोल रही है। युवती पर भरोसा कर उसे ओटीपी दे दिया, जिसके बाद उनके क्रेडिंट कार्ड से रुपये निकल गए। राकेश ने बताया कि उनकी सांवेर रोड पर लोहे की फैक्ट्री है।

बुधवार दोपहर उनके पास एक महिला का फोन आया और कहा कि वह एसबीआइ बैंक से बोल रही है। महिला ने कहा कि उसने क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने के लिए फोन किया है। राकेश समझ गए कि यह फोन ठगी करने वालों का हो सकता है। महिला निजी जानकारी मांगने लगी तो राकेश ने दे दी, लेकिन जब महिला ने ओटीपी मांगा तो राकेश ने देने से मना कर दिया।

मना करते ही महिला ने फोन काटा और वीडियो कालिंग की, उसने बैकग्राउंड में बैंक का लोगो और दफ्तर में काम करने वाले लोग बताए और कहा कि वे भरोसा कर सकते हैं कि बैंक के माध्यम से ही फोन किया गया है।वीडियो कालिंग के बाद महिला पर भरोसा कर राकेश ने ओटीपी दे दिया। ओटीपी देते ही खाते से पांच बार ट्रांजक्शन हुआ और रुपये निकल गए। वे तुरंत थाने पहुंचे और वहां शिकायत की। कार्ड ब्लाक कराया। यहां से उन्हे साइबर पुलिस पहुंचे और वहां शिकायत दर्ज कराई है।

लेनदेन को लेकर मारपीट

भंवरकुआं थाना पुलिस ने गणेश खेड़े निवासी चितावत की शिकायत पर अंकित, मोहित और ज्योति के खिलाफ मारपीट का केस दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक गणेश ने बताया कि दोनों परिवार में लेन-देन को लेकर पहले से ही झगड़ा चल रहा है। बुधवार को इसी बात को लेकर कहासुनी हुई तो आरोपितों ने गणेश पर हमला कर दिया और धमकी दी, कहा कि आइंदा रुपयों को लेकर बात की तो हत्या कर देंगे।कई दिनों से दोनों पक्षों में कहासुनी चली आ रही है।घटना के बाद आरोपित फरार हो गए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local