इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Flesh Trade Indore। बांग्लादेशी लड़कियों की खरीद फरोख्त का मुलजिम मुनीर पांच साल के भीतर 200 से ज्यादा लड़कियां सप्लाय कर चुका है। सीमा पार कर भारत लाई लड़कियां सबसे पहले नाला सुपारा (मुंबई) में दलालों के अड्डे पर आती थी। पहले से देह व्यापार कर रही लड़कियां तंग कपड़े, सजने-संवरने की ट्रेनिंग देती थी। अड्डे का मुखिया बार-बार शारीरिक संबंध बना कर उन्हें देह व्यापार के लिए तैयार करता था।

जसोर बांग्लादेश के मुनीर उर्फ मुनीरुल पुत्र खालिग गाजी को महिला थाना पुलिस ने रिमांड पर लिया है। पांच सालों में करीब 200 लड़कियों की तस्करी कर चुका मुनीर सूरत, मुंबई, अहमदाबाद, इंदौर, कोलकाता सहित बांग्लादेश के तस्करों से जुड़ा है। पूछताछ में उसने बताया कि बांग्लादेश की शबाना और बख्तियार उन लड़कियों को ढूंढते हैं जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर रहती है। भारत में नौकरी-पढ़ाई का प्रलोभन देकर मुर्शिदाबाद से कोलकाता और मुंबई भेजा जाता था।

सीमा पार भारत आई हो यह बोल नाला सुपारा में बने दलालों के अड्डों रखा जाता था। लड़कियों के जरिये उन्हें ट्रेनिंग दी जाती थी। इन्हें सबसे पहले दलालों के हवाले किया जाता और देह व्यापार के लिए मानसिक रुप से तैयार कर दिया जाता था। बाद में वीडियो कॉल और फोटो के जरिये अन्य दलालों को ठेके पर भेज देते थे। टीआइ के मुताबिक मुनीर पहले एजेंट के रूप में काम करता था, लेकिन अब तो वह 15 से ज्यादा लड़कियों से सूरत में देह व्यापार करवा रहा है। स्वजनों को शक न हो इसलिए लड़कियां हवाला या आनलाइन के माध्यम से स्वजनों को समय-समय पर रुपये भी भेजती रहती है।

शेल्टर होम से भागी लड़कियों की तलाश में छापे

महिला थाना टीआइ ज्योती शर्मा के मुताबिक मुनीर ने उन लड़कियों को भी बेच दिया जो बाणगंगा क्षेत्र स्थित शेल्टर होम से भाग गई थी। पुलिस को तीन लड़कियों के संबंध में जानकारी मिल चुकी है। दलालों के माध्यम से तीनों की सूरत में तलाश है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local