इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore News। महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक के खातीपुरा और विजय नगर स्थित दो भवनों को बेचने की तैयारी कई दिनों से चल रही है। सहकारिता विभाग द्वारा गठित समिति ने दोनों भवन बेचने के लिए टेंडर बुलाए थे। खातीपुरा स्थित भवन के लिए तीन खरीदारों ने टेंडर डाले थे। समिति ने इस भवन की आफसेट वैल्यू 3.02 करोड़ रुपये तय की थी। पर सोमवार को खोले गए टेंडर में सबसे ऊंची कीमत भगवतीप्रसाद यादव ने 4.21 करोड़ रुपये लगाई गई है। इसके अलावा गोवर्धन दलवानी और बीएल इंडस्ट्रीज ने क्रमश: 4.13 करोड़ और 3.51 करोड़ रुपये की कीमत लगाई है।

सोमवार को संयुक्त आयुक्त कार्यालय में समिति के अध्यक्ष व संयुक्त आयुक्त जगदीश कनौज, उपायुक्त एमएल गजभिये, उपायुक्त न्यायिक डा. मनोज जायसवाल और बैंक के परिसमापक डीएस चौहान ने खातीपुरा भवन के टेंडर खोले। विजय नगर वाले बैंक भवन के लिए एकमात्र टेंडर आने से इसे नहीं खोला गया। संयुक्त आयुक्त कनाैज ने बताया कि खातीपुरा के भवन को खरीदने के लिए आगे आए तीन प्रस्तावों को भोपाल सहकारिता आयुक्त के समक्ष भेजा जाएगा। आयुक्त के अनुमोदन के आधार पर कोई निर्णय लिया जा सकेगा। विजय नगर वाले बैंक भवन के लिए दोबारा टेंडर बुलाए जाएंगे।

इसलिए बेची जा रही संपत्ति: 12 हजार सदस्यों को चुकाना है 18 करोड़

महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक में प्रबंधन और पदाधिकारियों की अनियमितताओं के कारण बैंक घाटे में चला गया। वर्ष 2004 में बैंक इतना घाटे में चला गया कि यह परिसमापन में चला गया। आज भी बैंक के 12 हजार 660 सदस्यों को उनकी जमा पूंजी के 18 करोड़ रुपये से अधिक चुकाना हैं। बैंक के पास इतनी जमा राशि न होने से बैंक के भवनों को बेचने का निर्णय लिया गया है। कुछ जमाकर्ताओं ने अपना पैसा लेने के लिए बैंक के खिलाफ अदालत में भी केस लगा रखे हैं। बैंक को बकायादारों से भी करोड़ों रुपये की वसूली करना है, लेकिन यह नहीं हो पा रही है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local