इंदौर। इंदौर संसदीय सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी की हार का अहम बिंदु यह भी है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार के तीन मंत्री सज्जनसिंह वर्मा, जीतू पटवारी और तुलसी सिलावट भी उनके लिए कुछ खास नहीं कर पाए। यहां तक कि तीनों मंत्री शहर में जिस जगह निवास करते हैं, वहां वे अपने बूथों पर भी कांग्रेस प्रत्याशी को नहीं जितवा पाए।

विधानसभा इंदौर-4 के पलसीकर कॉलोनी में जहां लोक निर्माण मंत्री वर्मा का निवास है, वहां भी कांग्रेस 352 वोट से हार गई। वर्मा को तो इंदौर संसदीय सीट का चुनाव प्रभारी भी बनाया गया था। इसी तरह राऊ विधानसभा के बिजलपुर में उच्च शिक्षा मंत्री पटवारी के पटवारी चौक वाले बूथ नंबर-94 से कांग्रेस 48 वोट से हार गई।

विधानसभा-तीन के जानकी नगर में जहां स्वास्थ्य मंत्री सिलावट का निवास है, उस बूथ से भी भाजपा प्रत्याशी को 309 वोट से जीत मिली। विधानसभा-5 में वल्लभ नगर में जहां कांग्रेस प्रत्याशी संघवी रहते हैं, वहां के बूथ नंबर-8 से भी वे खुद 102 वोट से हार गए। वास्तव में चुनाव नतीजे कांग्रेस नेताओं को सकते में डालने वाले रहे। उन्होंने उम्मीद नहीं की थी कि परिणाम इस तरह भी आ सकते हैं।

Posted By: Hemant Upadhyay