इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर के तीन लोगों ने नेचुरल हर्बल साइंस नाम की आयुर्वेदिक दवा कंपनी की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर फरीदाबाद निवासी प्रीतपाल सिंह से 36 लाख रुपये हड़प लिए। इंदौर क्राइम ब्रांच ने तीनों आरोपितों को गिरफ्तार किया है। ये आरोपित देशभर में कई लोगों से ऐसे ही करोड़ों रुपये ठग चुके हैं। आरोपितों की इंदौर में रिंग रोड स्थित अमनदीप प्लाजा में नेचुरल हर्बल साइंस नाम से आयुर्वेदिक दवा कंपनी है।

इंदौर क्राइम ब्रांच ने बताया आरोपित प्रवेश राय, नितिन गड़गे और मोहितनी सोनी खुद ही ग्राहक बनकर प्रीतपाल सिंह को दवा का आर्डर देते थे। इसके बाद प्रीतपाल सिंह दवा खरीदने के लिए इन आरोपितों के पास ही रुपये जमा करवाते थे। आरोपितों ने दवा नहीं भेजी सिर्फ रुपये जमा करवाते रहे। पुलिस ने तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

प्रापर्टी व्यवसायी के घर से लाखों के आभूषण चोरी

इंदौर। तुकोगंज थाना क्षेत्र में शुक्रवार शाम प्रापर्टी व्यवसायी के घर से चोर लाखों के जेवर लेकर फरार हो गए। घटना के वक्त पूरा परिवार प्रथम तल पर था। पुलिस को शक है चोरी में परिचित का हाथ है। पुलिस के अनुसार अटल पुत्र रामदास दुबे निवासी न्यू पलासिया की शिकायत पर चोरी का केस दर्ज किया है। उन्होंने पुलिस को बताया कि मां प्रथम तल पर रहती है। शुक्रवार को ऊपर का ताला लगाकर नीचे आ गए थे। रात को ऊपर पहुंचे तो ताला टूटा मिला। चोर सोने की अंगूठी, हीरे का सेट, सोने के टाप्स, नथ, सिक्के और 70 हजार रुपये सहित करीब सात लाख का माल चुरा कर ले गए।

लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के खाली कार्ड की दिक्कत बरकरार

इंदौर। आरटीओ में लाइसेंस की व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रही है। हालत यह है कि दो माह पहले ट्रायल देने वाले लोगों के लाइसेंस भी अभी तक नहीं बन पाए हैं। परिवहन आयुक्त ने भी स्मार्टचिप कंपनी को निर्देश दे दिए, लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ है। जानकारी के अनुसार इस फरवरी से डुप्लीकेट और रिन्युअल लाइसेंस की व्यवस्था भी आनलाइन कर दी गई है। इसके बाद से लाइसेंस बनवाने वालों की संख्या बढ़ गई है। इस कारण बार-बार कार्ड खत्म होने से दिक्कत आ रही है। कुछ कार्ड आते हैं, लेकिन तब तक पेंडेंसी इतनी बढ़ जाती है कि पूर्ति नहीं हो पाती है। गाड़ी के रजिस्ट्रेशन कार्ड को लेकर भी यही दिक्कत है। पहले सीएम हेल्पलाइन में शिकायत करने पर कार्ड जल्दी मिल जाता था लेकिन अब वहां से भी मदद नहीं मिल रही है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close