Today in Indore : इंदौर (नईदनिया प्रतिनिधि)। शहर में कोरोना गाइडलाइन के अनुसार कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इस कड़ी में 22 मई को दिनभर शहर में विभिन्न संगठनों के कई कार्यक्रम होंगे। इसमें रामकथा और भागवत कथा होगी। इसके अतिरिक्त उपाध्याय ललितप्रभ की प्रवचनमाला का समापन भी होगा। वहीं जैन व पालीवाल समाज के चुनाव होंगे। इस दौरान मास्क पहनने के साथ शारीरिक दूरी के नियम का पालन कर स्वयं भी सुरक्षित रहें और दूसरों को भी सुरक्षित रखें।

- प्राचीन खजराना गणेश मंदिर में खजराना गणेश का सुबह 6 बजे श्रृंगार और आरती की जाएगी। इसमें गणेश भक्त प्रतिदिन की तरह श्रद्धा व उल्लास से शामिल होंगे। दर्शन का सिलसिला दिनभर कोरोना प्रोटोकाल के नियमों के पालन के साथ चलेगा।

- नाम-जप परिक्रमा लक्ष्मी-वेंकटेश देवस्थान छत्रीबाग में सुबह 7.45 बजे निकलेगी। इसमें भक्त वेकेंट रमणा गोविंदा का जयघोष लगाते शामिल होंगे। परिक्रमा के बाद श्रृंगार दर्शन का सिलसिला दोपहर 12 बजे तक मंदिर के पट बंद होने तक चलेगा।

- उपाध्याय ललितप्रभ सागर महाराज एवं डा. मुनि शांतिप्रिय सागर महाराज के तीन दिवसीय प्रवचनमाला सुबह 9 बजे से रवींद्र नाट्यगृह में होगी। अंतिम दिन युवाओं को संस्कारित कैसे करें विषय पर संतश्री संबोधित करेंगे।

- पालीवाल समाज 24 श्रेणी के चुनाव इमली बाजार स्थित समाज की धर्मशाला में होंगे। छह पदाधिकारी और पांच कार्यकारिणी सहित 11 पदों के लिए 26 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इनका चुनाव समाज के 800 मतदाता करेंगे। मतदान सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक होगा। इसके बाद शाम 4 बजे से मतपत्रों की गिनती शुरू होगी और रात 9 बजे परिणाम घोषित किए जाएंगे।

- दिगंबर जैन समाज की 127 साल पुरानी भारतवर्षीय दिगंबर जैन महासभा के त्रैवार्षिक चुनाव कुंदकुंद ज्ञानपीठ उदासीन आश्रम में होंगे। इसमें महासभा के अंतर्गत आने वाली दिगंबर जैन तीर्थ संरक्षणी, जैन धर्म संरक्षिणी, जैन श्रुत संवर्धिनी, जैन युवा महासभा के प्रांतीय अध्यक्ष को चुना जाएगा। इसके अतिरिक्त इन चार संस्थाओं के लिए इंदौर, ग्वालियर, भोपाल, जबलपुर के संभागीय अध्यक्ष भी चुने जाएंगे। कुल 20 पदों के लिए चुनाव होंगे। चुनाव प्रक्रिया सुबह 10.30 बजे से शुरू होगी।

- संस्था अग्रश्री कपल्स ग्रुप द्वारा दोपहर 1.30 बजे से राजीव गांधी चौराहा स्थित मीरा गार्डन पर राणीसती दादी का मंगल पाठ होगा। पाठ गायक कुंदन मिश्रा के मुखारविंद से होगा। इस अवसर पर दादी का दरबार भी सजेगा और हल्दी, मेहंदी तथा चुनरी उत्सव भी मनाया जाएगा। छप्पन भोग समर्पण के बाद महाआरती भी होगी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close