Toll Tax in MP: मालवा-निमाड़ के जिलों में बेहतर सड़कों को लिए टोल व्यवस्था लागू की गई। सड़कें तो बनी लेकिन थोडी सी बारिश में ही इनके हाल बिगड़ने लगे हैं। वाहन चालक भारी-भरकम टोल टैक्स चुकाकर भी गड्डों भरी खस्ताहाल सड़क से गुजरने के लिए मजबूर है। नईदुनिया ने जब मालवा-निमाड़ के जिलों की पड़ताल की तो कई सड़कों की खराब हालत साथ शासन-प्रशासन की अनदेखी नजर आई। इंदौर-पिटोल सड़क की बदहाली पर रिपोर्ट...

झाबुआ-धार (टीम नईदुनिया)। इंदौर-अहमदाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग का इंदौर से पिटोल तक के हिस्से का सफर वाहन चालकों को बहुत महंगा पड़ रहा है। धार-झाबुआ होकर गुजरने वाली यह टोल सड़क पर जगह-जगह गड्डे हो गए हैं। इंदौर से पिटोल तक के हिस्से में 155 किमी सफर के लिए वाहन चालकों को एक ओर का टोल टैक्स ही 255 रुपए चुकाना पड़ता है। टोल दर ज्यादा होने के बादवजूद धार से इंदौर के बीच कई स्थानों पर सड़क खराब हो गई है। दस से ज्यादा स्थानों पर स्थिति खराब है। इधर, झाबुआ से राजगढ़ तक की यात्रा में वाहन चालकों को गड्डों से बचकर चलने का संघर्षपूर्ण सफर करना पड़ता है। माछलिया घाट में 16 किमी के हिस्से में फोरलेन बना ही नहीं है। घाट में घंटों यातायात जाम की स्थिति भी बार-बार पैदा होती है। सड़क बारिश की शुरुआत में ही दयनीय हालत में दिखने लगी है।

इंदौर-पिटोल रोड बेहाल

- वाहन चालकों को 155 किमी सफर के लिए देने पड़ रहे 255 रुपये

- शुरुआती बारिश में ही खराब हो रही सड़क, मरम्मत पर नहीं ध्यान

- माछलिया घाट के 16 किमी में इंदौर- अहमदाबाद फोरलेन का निर्माण नहीं

परिवहन मंत्रालय से भी की शिकायत, लेकिन नहीं रुकी वसूली

धार विधायक से लेकर झाबुआ के जिम्मेदारों ने परिवहन मंत्रालय दिल्ली में एक नहीं, बल्कि अनेक बार टोल राशि अधिक लेने की शिकायत की। अधिकारियों को जांच करने का कहा गया तो उन्होंने अपनी रिपोर्ट में टोल राशि नियमों के अनुरूप लेने की बात कही। बता दें कि इंदौर जिले के ग्राम मेठवाड़ा के टोल प्लाजा पर टोल राशि कार व हल्के वाहनों से 135 रुपये प्रतिदिन एक तरफ के लिए ली जाती है, वहीं दत्तीगांव टोल पर 110 रुपये लिए जाते हैं। इस मार्ग पर माछलिया घाट का निर्माण हो जाने पर टोल की राशि और भी अधिक हो जाएगी।

फोरलेन पर सड़कों की हालत इतनी खराब नहीं है। हमारे मेंटनेंस विभाग द्वारा समय-समय पर कार्य करवाया जाता है। सड़क की दशा अच्छी है। - वीर बाबू, मैनेजर, आइवीआरसीएल टोल एजेंसी

दो टोल, 18 हजार वाहन

- धार व इंदौर जिले की सीमा पर मेठवाड़ा में है पहला टोल।

- धार जिले के दत्तीगांव में है दूसरा टोल।

- रोज 15 से 18 हजार वाहन गुजरते हैं।

इंदौर-अहमदाबाद फोरलेन की स्थिति

- 2010 में शुरू किया था फोरलेन का कार्य

- 139 किमी कार्य किया है हाईवे का

- 2018 से वसूला जा रहा है टोल

- 2036 के आसपास तक हो सकेगी वसूली

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local