Tourist Place Near Indore: इंदौर। जितना खूबसूरत यहां का नजारा है, उतना ही दिलकश यहां तक पहुंचने का रास्ता। बरसात के दिनों में तो यहां प्रकृति का रूप और भी निखरा नजर आता है। शोर-शराबे से दूर यह प्राकृतिक स्थल है बामनिया कुंड। यह ऐसा स्थान है जहां हर उम्र का व्यक्ति सुकून की तलाश में पहुंचता है। महू से करीब 14 किमी दूर बामनिया कुंड एक ऐसा स्थान है, जहां झरने को न केवल देखा जा सकता है बल्कि उसमें नहाकर या उसके बहते शीतल जल में पांव डालकर उसका आनंद भी लिया जा सकता है। इंदौर से महू और महू से कोदरिया गांव होते हुए मलेंडी गांव जाना पड़ता है और उस गांव से होकर ही बामनिया कुंड तक पहुंचा जा सकता है। कोदरिया गांव से मलेंडी तक का रास्ता बहुत ही खूबसूरत है। दूर नजर आती विंध्याचल पर्वतमाला, हरियाली और घुमावदार पक्की सड़क और इसके दोनों ओर सघन वन... कुल मिलाकार पूरी तरह प्राकृतिक परिवेश।

कच्चा रास्ता और दूर तक आती झरने की आवाज

मलेंडी से कुंड तक पहुंचने का मार्ग कच्चा है इसलिए गांव के मुहाने पर बनी चौकी से थोड़ा आगे तक ही वाहन ले जाए जा सकते हैं। उसके आगे ट्रैकिंग का आनंद लिया जा सकता है। यहां तीन चरणों में झरने को गिरते देखा जा सकता है। पहले चरण में कुंड नुमा दिखता है और यहां से आगे बहता पानी दूसरे चरण में नीचे गिरता है। जहां यह पानी गिर रहा है वहां तक भी सामान्य तौर पर जाया जा सकता है लेकिन तीसरे चरण में गिरने वाला प्रपात खतरनाक है। गहराई भी ज्यादा है।

सावधान

यूथ होस्टल मध्य प्रदेश के अध्यक्ष अशोक गोलाने के अनुसार यहां पहले व दूसरे चरण वाले झरने तक तब ही जाएं, जब पानी कम हो और रास्ता फिसलन भरा न हो। जब पानी का रंग बदलता दिखे तो तुरंत सूखे भाग में आ जाएं क्योंकि पानी का बदलता रंग संकेत है कहीं और तेज बरसात होने का जिसका बहाव यहां आ रहा है। ट्रैकिंग के लिए जाएं तो रस्सी, टार्च जरूर लेकर जाएं और खान-पान की वस्तुएं भी रखें क्योंकि यहां बाजार नहीं है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close