इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Book Tracking Indore। सरकारी स्कूलों के पहली से लेकर आठवीं तक के छात्रों को किताबें बांटने का काम शुरू हो गया है। इस बार गडबड़ी न हो इसलिए हर स्तर पर इनकी ट्रैकिंग की जा रही है। इस बार किताबों का वितरण जन शिक्षा केन्द्रों के बजाए स्कूलों से ही किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार तीसरी लहर की आशंका के चलते फिलहाल स्कूल बंद है, लेकिन आनलाइन क्लासेस चल रही है। विद्याथियों को किताबें बांटने काम चालू हो गया है। जिला परियोजना समन्वयक अक्षय सिंह राठौर ने बताया कि इस बार एेप के माध्यम से किताबों की ट्रेकिंग की जा रही है, जिससे किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी न हो सकेगी। किताबों के ब्लाक मुख्यालय पर पहुंचने पर बीआरसी ऐप के माध्यम से पुस्तकों की सूची देखकर इसे रिसीव करेंगे। बीआरसी संकुलों को पुस्तकें डिस्पैच करने की जानकारी अपडेट करेंगे।

यहां से किताबे सीधे स्कूल पहुंचेगी। जहां हेड मास्टर भी बीआरसी की तरह ऐप के माध्यम से ही पुस्तकें रिसीव करेंगे। हेडमास्टर को पुस्तकें रिसीव करने के लिए स्कूल के 500 मीटर के रेडियस में होना जरूरी है। स्कूल में नहीं होने पर पुस्तकें रिसीव नहीं हो पाएगी। पुस्तकों की संख्या में अंतर होने या बंडल कटे-फटे होने पर ऐप के माध्यम से संख्या को एडिट भी किया जा सकेगा। पुस्तकें लेने के बाद जीयोटैग से पुस्तक के बंडल के फोटो लेना होगी। प्राप्ति पर क्लिक करते ही बीआरसी के पास इसकी जानकारी पहुंच जाएगी। वहीं छात्रों को पुस्तकाें का वितरण करने के बाद इसकी जानकारी भी अपडेट करनी होगी।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags