इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मालवांचल विश्वविद्यालय में रिसर्च मेथोडोलाजी पर कार्यशाला के दूसरे दिन मेडिकल कालेज के पीजी स्टूडेंट्स ने भी भाग लिया। विश्वविद्यालय के प्रो-चांसलर डा. संजीव नारंग और प्रोफेसर एंड हेड आइआइडीएस डा. हेमानी सुखीजा ने कहा कि 'रिसर्च मेथोडोलाजी वर्कशाप में शामिल हुए सभी स्टूडेंट्स को मेडिकल रिसर्च के बारे में नई जानकारियां मिली। विभिन्न मुद्दों पर उनके कान्सेप्ट भी स्पष्ट हुए है, और यह उनके भविष्य के लिए एक अच्छा कदम साबित होगा।' कार्यशाला की कोआर्डिनेटर दीपशिखा विनायक ने वर्कशाप में आए चिकित्सकों का धन्यवाद दिया।कार्यक्रम का संचालन डा. नेहा जायसवाल ने किया।

रिसर्च मेथोडोलाजी पर आयोजित हुई वर्कशाप में पहले दिन के मुख्य वक्ता के रूप में एमजीएम मेडिकल कालेज के डीन डा. संजय दीक्षित, डा. वीके अरोरा और एमजीएम मेडिकल कालेज की डा. वीणा यसिकर मौजूद थी। वर्कशाप के दूसरे दिन गवर्नमेंट डेंटल कालेज के डॉ. पुनीत गुप्ता (रीडर- पब्लिक हेल्थ डेंटिस्ट्री विभाग) ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। उन्होंने डिस्क्रिप्टिव व इन्फ्रन्शियल स्टेटिस्टिक्स और सैंपलिंग के बारें में व्याख्यान दिया। वर्कशाप में फैकल्टी मेंबर्स के साथ ही पीजी मेडिकल स्टूडेंट्स ने भी हिस्सा लिया।

विश्वविद्यालय के चांसलर सुरेश सिंह भदौरिया ने कहा कि 'पीजी विद्यार्थियों के उत्साह को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह वर्कशाप सफल रही है। इस कार्यशाला के माध्यम से मेडिकल के विद्यार्थी अपने-अपने क्षेत्र में निपुण हो जाएगे। इस मौके पर मेडिकल कालेज के डीन डा. जीएस पटेल ने आभार प्रदर्शन करते हुए विश्वविद्यालय के द्वारा आयोजित वर्कशाप में शामिल हुए विशेषज्ञ डाक्टर्स, पीजी स्टूडेंट्स को धन्यवाद दिया।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local