इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। तीन माह बाद सोमवार को खजराना गणेश मंदिर की दानपेटियां खोली गईं, जिसमें रुपयों के अलावा दो डॉलर और एक चांदी का सिक्का भी निकला। सबसे पहले गर्भगृह की पेटी खोली गई। पहले दिन शाम तक समिति ने आठ लाख 67 हजार रुपए बैंक में जमा कराए हैं। सुबह प्रशासन की मौजूदगी में दानपेटी खोलकर गिनती शुरू की गई। लगभग 15 से अधिक कर्मचारियों ने गिनती शुरू की। पहले दिन शाम तक आठ लाख 67 हजार रुपए बैंक में जमा किए गए। मंदिर में सात दिनों में 29 दानपात्रों से राशि की गिनती होनी है।

मंदिर में लगाया बड़ा तराजू

भक्तों और श्रध्दालुओं की मनोकामना पूरी होने पर वे खजराना गणेश मंदिर में कभी लड्डुओं से, कभी फलों से तो कभी अनाज से अपने स्वजन को तौलकर वह सामग्री मंदिर में दान करते हैं। इसे तुलादान कहा जाता है। ऐसे श्रध्दालुओं की सुविधा के लिए मंदिर प्रबंध समिति ने सोमवार को मंदिर परिसर में विशाल तराजू लगवाया। मुख्य पुजारी पं. अशोक भट्ट ने बताया कि संभवत: मध्य प्रदेश में यह पहला ऐसा मंदिर है, जहां इस तरह का तुलादान लगाया गया है।

खजराना गणेश मंदिर दुनियाभर में प्रसिद्ध है, यहां दूर-दूर भक्त दर्शन को पहुंचते हैं। टीम इंडिया जब भी कोई मैच खेलने इंदौर आती है तो कई खिलाड़ी खजराना गणेश मंदिर में आशीर्वाद लेने पहुंचते हैं। यह पहली बार नहीं है जब खजराना गणेश मंदिर से डॉलर निकले हैं, इसके पहले यहां दान पेटी से सोने-चांदी के आभूषण निकले हैं। एक बार दानपेटी से एक प्रेम पत्र भी निकला था जिसमें एक युवती ने अपने प्रेमी से शादी के लिए गणेशजी से आशीर्वाद मांगा था।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस