VAHAN Portal: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। केंद्र सरकार के वाहन पोर्टल पर प्रदेश के वाहनों के पंजीयन शुरू होने के बाद शहर में वाहनों की ब्रिकी अचानक थम सी गई है। ऐसा नहीं है कि शहर में वाहनों की कमी हो गई है या डीलरों के पास स्टाक नहीं है। बाजार में ग्राहक भी हैं और डीलरों के पास वाहन भी। लेकिन वाहन पोर्टल पर आ रही दिक्कत के कारण डीलर वाहन नहीं बेच पा रहे हैं। अब यह हालात हैं कि शहर में 1 अगस्त से पहले हर दिन औसतन 350 वाहन बिकते थे। जबकि बीते नौ दिनों में शहर में 1503 वाहनों का ही पंजीयन हो पाया है। प्रदेश में 1 अगस्त से वाहन पोर्टल शुरू किया गया है।

डीलरों को वाहन पंजीयन के अधिकार दिए गए हैं। बताया गया था कि इसमें काफी लाभ है। लेकिन बिना ट्रायल के शुरू होने से दिक्कत हो गई है। अधिकारी भी इससे परेशान हैं लेकिन वे भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं। डीलरों ने बताया कि सबसे अधिक परेशानी टैक्स भुगतान को लेकर है। पहले आसानी से बैंक गेटवे खुल जाता था और मिनटों में पेमेंट हो जाता था। लेकिन अब पेमेंट में ही सबसे अधिक दिक्कत आ रही है। इसके अलावा वाहन स्वामी के दस्तावेज का फार्म 20 अपलोड करने में दिक्कत आ रही है। इसके अतिरिक्त नई व्यवस्था में वाहन बेचने के साथ ही उसकी बीमा पालिसी को आइआरडीए की वेबसाइट पर अपलोड करना पड़ता है। जिससे पता चल सके कि बीमा पालिसी फर्जी तो नहीं बनाई गई है लेकिन आइआरडीए की वेबसाइट पर पालिसी अपलोड ही नहीं हो पा रही है।

पहले कोरोना, फिर सेमी कंडक्टर से रहे परेशान

डीलरों ने बताया कि पहले कोरोना के कारण वाहनों की बिक्री गिर गई थी। इसके बाद जब बाजार अनलाक हुआ तो कंपनियों का प्रोडक्शन कम हो गया। फिर जब प्रोडक्शन बढ़ा तो सेमीकंडक्टर की कमी आड़े आ गई। अब जब हालात सुधर रहे थे तो यह परेशानी आ गई है।

हमारे पास आर्डर भी हैं और कारें भी हैं। लेकिन पोर्टल की दिक्कतों से परेशानी हो रही है। आगे त्योहारी सीजन है। सीजन के दौरान इंदौर में एक दिन में सात हजार तक वाहन बिक जाते हैं। उस समय कैसे मैनेज करेंगे। - पटेल, अध्यक्ष इंदौर आटोमोबाइल डीलर एसोसिएशन

वाहन पोर्टल में कुछ परेशानियां आ रही हैं। इस संबंध में एनआइसी और मुख्यालय को बता दिया गया है। उम्मीद है जल्द ही परेशानी दूर हो जाएगी। - जितेंद्र सिंह रघुवंशी, आरटीओ

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close