इंदौर। योग एक ऐसा माध्यम है, जो कई रोगों को दूर कर सकता है। कोरोना संक्रमण के इस दौर में वक्रासन करना और भी कारगर है। वक्रासन से शुगर लेवल ठीक रहता है और भूख संतुलित रहती है। यह प्लीहा पर असर करता है और इसके क्रियाशील होने से ब्लड सेल्स अच्छे हो जाते हैं, जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है। पाचन तंत्र भी सुचारू रहता है और किडनी भी बेहतर ढंग से काम करती है। इसके अलावा रीढ़ संबंधी विकार भी दूर होते हैं। इसे करने के लिए जमीन पर पैर लंबे करके बैठ जाएं। दायें पैर को घुटने से मोड़ते हुए पैर का पंजा बायें पैर के घुटने के पास रख लें। सांस भरते हुए दायां हाथ उठाएं और उसे दायीं ओर ही कमर के पीछे लाकर जमीन पर टिकाएं। सांस भरते हुए बायां हाथ ऊपर उठाएं और दायें घुटने के बाहर से मोड़ते हुए दायें टखने को पकड़ें। सांस भरते हुए पेट, गर्दन, कंधे को दायीं तरफ पीछे की ओर मोड़ें। 10 मिनट तक श्वास-प्रश्वास तक इसी स्थिति में रहें। धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आएं और इसी क्रम से अब बायीं तरफ अभ्यास करें। जिन्हें गंभीर कमर दर्द है, वह इसे डॉक्टरी सलाह से करें। इसका पूरक आसन निरालंब पश्चिमोत्तानासन करने से वक्रासन का लाभ चार गुना बढ़ जाता है।

-बेला गुप्ता, योग विशेषज्ञ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस