इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore News। अनियंत्रित बस ने पहले कार फिर आटो रिक्शा को टक्कर मार दी। इसके बाद भी जब बस नहीं रुकी तो चालक बस से कूद कर भाग गया। बस में कई यात्री सवार थे। घटना मूसाखेड़ी चौराहे की है। मौके पर आजाद नगर टीआइ इंद्रेश त्रिपाठी यातायात व्यवस्था देख रहे थे। जब टीआइ ने यह घटना देखी तो तुरंत दौड़ लगाई।

लोगों की मदद से बस के आगे पत्थर डालकर उसे रोका और लोगों की जान बच सकी। घटना में 45 वर्षीय शांतिलाल बकोरे, 22 वर्षीय रवि पुत्र भवानीराम, आकाश पुत्र राजू, दीपक बकोरे निवासी मूसाखेड़ी को मामूली चोटे आईं हैं। क्रेन की मदद से बस को आजाद नगर थाने लाया गया। जानकारी मिलने पर एसपी पूर्व आशुतोष बागरी ने टीआई व स्टाफ की तारिफ की। इस मामले में बस ड्राइवर के खिलाफ लापरवाही का केस दर्ज किया गया।

आजाद नगर इलाके में मूसाखेड़ी चौराहे पर सोमवार रात आठ बजे चौहान पर इंदौर-भोपाल बस (एमपी09 एफए 6543) अचानक बेकाबू हो गई। टीआई आजाद नगर इंद्रेश त्रिपाठी ने बताया कि बस ने पहले आगे चल रही कार को टक्कर मारी। कार सवार को मामूली चोट आई लेकिन गाड़ी काफी क्षतिग्रस्त हो गई। इसके बाद बस ने आटो रिक्शा को टक्कर मारी। इसके बाद भी बस नहीं रुकी। इस बीच टीआइ की नजर पड़ी तो बस का ड्राइवर चलती गाड़ी से कूदकर भाग गया। बस की रफ्तार ज्यादा नहीं थी लेकिन उसमें करीब 20 सवारियां मौजूद थे। ड्राइवर के चलती बस से कूद जाने पर यात्री भी घबरा गए।

वे मदद के लिए शोर मचाने लगे। ये देखकर टीआइ व अन्य स्टाफ ने दौड़ लगा दी। बस की रफ्तार धीमी थी तो त्रिपाठी उसमें बैठने लगे। तब यात्रियों ने बताया कि बस का ब्रेक फेल हो गया है, सूझबूझ दिखाते हुए टीआई ने लोगों के साथ पत्थर उठाकर पहिए के आगे डालने के लिए कहा। पत्थरों में टायर अटक गए और बस सुरक्षित रुक गई। इसके बाद सभी सवारियों को सुरक्षित नीचे उतारा गया। लोगों ने बताया कि पुलिस चौराहे पर मौजूद नहीं होती तो कई लोगों की जान खतरे में आ सकती थी।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local