इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंदौर ने स्वच्छता का जो जादू चलाया है, उसे हम सीखने आए है। स्वच्छता का मंत्र जो इंदौर के पास है उस मंत्र को लेकर हम भी ईटानगर को स्वच्छ बनाएंगे। ये बातें ईटानगर के महापौर तामे फसांग ने अपने इंदौर दौरे में कही। उन्होंने बताया कि इंदौर ने स्वच्छता को जनभागीदारी से जनआंदोलन बनाया। इसमें जनप्रतिनिधियों के साथ रहवासियों का भी अहम रोल रहा। इस माडल को हम अपने शहर में भी लागू करेंगे। तांमे फसांग के साथ ईटा नगर के उप महापौर, पाषर्दो सहित अधिकारियों सहित 31 लोगों के दल भारतीय लोक प्रशासन संस्थान, नई दिल्ली, द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम के द्वितीय चरण के तहत इंदौर में हुए सफाई कार्यो को देखने आया।

इस दल ने बुधवार को इंदौर में ठोस अपशिष्ठ प्रबंधन, कबीटखेड़ी स्थित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, स्टार चौराहा व ट्रेन्चिंग ग्राउंड स्थति सूखे कचरे के प्लांट व कम्पोस्ट प्लांट का अवलोकन किया। सुबह कबीटखेड़ी के ट्रीटमेंट प्लांट देखने के पश्चात ईटा नगर से आए टीम के सदस्यों के समक्ष स्मार्ट सिटी आफिस में अपर आयुक्त संदीप सोनी ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से इंदौर के स्वच्छता अभियान की जानकारी व सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट के बारें में जानकारी दी। अपर आयुक्त ने उन्हें बताया कि पहले शहर में जगह-जगह कचरा पेटियां रहती थी जिसके आसपास कचरे के ढेर लगे रहते थे। स्वच्छ अभियान के तहत शहर को कचरा पेटी से मुक्त कर डोर टू डोर वाहन चलाए गए। इनकी हर दिन निगरानी भी होती है। पहले जहां शहर में गीला व सूखा कचरा अलग-अलग किया जाता था। अब 6 बिन की तर्ज पर 6 प्रकार का कचरा अलग-अलग लिया जा रहा है। बैठक में ईटा नगर के महापौर व आयुक्त ने पूछा कि एक डोर टू डोर वाहन कितने घरों का कचरा एकत्र करता है। इस पर अपर आयुक्त सोनी ने बताया कि घरां की संख्या और वाहनों के निर्धारित रूट की दूरी को ध्यान में रखकर वाहनों को घरों से कचरा एकत्र करने की जिम्मेदारी दी गई है। कचरा संग्रहण वाहनों का संधारण कार्य निगम की वर्कशाप में किया जाता है। इस मौके पर स्मार्ट सिटी कार्यालय में विधायक व पूर्व महापौर मालिनी गौड़, प्रभारी आयुक्त भव्या मित्तल व निगम के अन्य अधिकारी मौजूद थे। ईटानगर से आए सदस्यों ने निगम के अफसरों को अरुणाचल प्रदेश की पारंपरिक पोषाक व स्मृति चिन्ह भेंट की।


इन्होंने देखी शहर की सफाई व्यवस्था

अरूणाचल प्रदेश के ईटानगर से आए 31 सदस्यों के दल में महापौर तामे फसांग, उपमहापौर बीरी बसांग, पार्षद लोकम आनंद, यागम जोमोह, गौरा तेलांग, टेची मेमा, ताज ग्यामार, रूही तागुंग, रूही याना, पाक्युम याना, युकार यारो, ताई याकीया, तामुक तागीआंग, गयामार तुवीन, तादर हंगी, तराह अचक, कीपा ताकुम, अरूण कीपा लोराम, आयुक्त लिखा तेी, सहायक अभियन्ता बामांग संजय तथा पासीघाट के चीफ काउंसलर ओकियम मोयोंग बोरांग, डिप्टी काउंसलर रेबेका पन्यांग मेगू, काउंसलर यालोप योमसो, पोनंग रेडेंग सरिनग, मुंसी दूपक लॉलेन, ओकेंग टायेंग, डायरेक्टर टाउन प्लानिंग एंड अर्बन लोकल बाडी के लिखा सूरज, म्युनिसिपल वित्त विशेषज्ञ मिची तारे, तथा अनुसंधान सहायक आनंद सिंह, भारतीय लोक प्रशासन संस्थान नई दिल्ली एसोसिएट प्रोफेसर डा. कुसुम लता (खुराना) शामिल थी।

इन स्थानों को किया निरीक्षण

-स्टार चौराहा स्थित गारबेज कचरा ट्रांसफर स्टेशन

-देवगुराड़िया स्थित टेन्चिंग ग्राउंड

-निर्माणधीन बायागैस प्लांट,

-डिसेंटलाईज्ड मटेरियल रिकवरी प्लांट

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local