Yogini Ekadashi 2022 :इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भगवान विष्णु को समर्पित हिंदू पंचांग के चौथे महीने आषाढ़ मास की योगिनी एकादशी 24 अप्रैल शुक्रवार को होगी। ज्योतिर्विदों के अनुसार इस व्रत का फल 88 हजार ब्राह्मणों को भोजन कराने के समान है। इस दिन बन रहे शुभ व सर्वार्थसिद्धि योग में कृष्ण मंदिरों में विभिन्न आयोजन होंगे। खाटू श्याम मंदिर मालवीय नगर में श्रृंगार दर्शन होंगे और छप्पन भोग लगेगा। इस्कान मंदिर में 12 घंटे चलने वाला कीर्तन होगा।

ज्योतिर्विद कान्हा जोशी ने बताया कि एकादशी तिथि 23 जून रात 9 बजकर 41 मिनट पर शुरू होकर 24 जून को रात 11 बजकर 12 मिनट पर पूर्ण होगी। पारणा द्वादशी के दिन 25 जून को प्रात: 5 बजकर 52 मिनट से 8 बजकर 32 मिनट तक किया जा सकेगा। इस दिन भगवान कृष्ण के दर्शन-पूजन का विशेष महत्व है। इसके साथ ही विष्णु सहस्त्रनाम, गायत्री मंत्र व श्रीसूक्त का पाठ करने से विशेष फलों की प्राप्ति होगी।

12 घंटे होगा कीर्तन - एकादशी पर निपानिया स्थित राधा-गोविंद मंदिर में सुबह 9 बजे से लगातार 12 घंटे चलने वाला कीर्तन होगा। मालवीय नगर स्थित खाटू श्याम मंदिर में भगवान के श्रृंगार दर्शन होंगे। मंदिर के पुरुषोत्तम शर्मा के अनुसार प्रात: श्रृंगार और शाम को भोग लगाया जाएगा। दिनभर दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगेगा। इसके अलावा शहर के अन्य मंदिरों में भी पूजन होगा।

पार्थिव शिवलिंग पूजन 26 जून को

इंदौर। आदित्य वाहिनी द्वारा शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती का 80वां जन्मोत्सव राष्ट्रोत्कर्ष दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस अवसर पर 26 जून को गीता भवन में सुबह 10.30 से 12.30 बजे तक पार्थिव शिवलिंग का पूजन होगा। वाहिनी के सदस्य नीलेश गंगराड़े ने बताया कि पूजन में भाग लेने के लिए 25 जून को दोपहर 12 बजे तक श्रद्धालु अपना नाम लिखवा सकते हैं। यह आयोजन हर सोमवार को शहर के अलग-अलग मंदिरों में किया जाएगा।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close