इंदौर। एमआईजी थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह डायरेक्ट सेल्स एजेंसी (डीसीए) का ऑफिस चलाता था। आत्महत्या के पूर्व उसने ऑफिस में काम करने वाली एक युवती को फंदे के साथ ली गई सेल्फी वाट्सएप की थी। पुलिस आत्महत्या के कारणों की जांच कर रही है।

टीआई तहजीब काजी के मुताबिक, मृतक का नाम अरविंद (29) पिता वैध शर्मा निवासी कदवाय अशोक नगर है। वह एमआईजी कॉलोनी में किराए के मकान में रहता था। उसमें ही उसने डीसीए का ऑफिस खोल रखा था। जहां क्रेडिट, डेबिट, पेन कार्ड बनाने और होम, एजुकेशन व पर्सनल लोन दिलाने का काम किया जाता था।

अरविंद के छोटे भाई नीतेश का अशोक नगर में स्कूल है। दूसरा भाई बिजली कंपनी में नौकरी करता है। पिता खेती करते है। वहीं दादा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं। उसके ऑफिस में करीब 12 युवक-युवती काम करते हैं। सुबह कर्मचारी ऑफिस पहुंचे और देर तक ऑफिस का दरवाजा नहीं खुला तो शक हुआ।

कर्मचारियों ने अन्य लोगों की मदद से पीछे कमरे में जाकर देखा तो अरविंद फंदे पर लटका था। सूचना पर पुलिस ने एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया। पुलिस को कमरे से शराब की बोतल और मोबाइल मिला। वाट्सएप की छानबीन से पता चला कि अरविंद देर रात ऑफिस में काम करने वाली एक युवती से बात कर रहा था।

बेल्ट का फंदा भेजा, चादर से लगाई फांसी

पुलिस के मुताबिक, अरविंद ने पहले बेल्ट का फंदा बनाया और उसके साथ सेल्फी खींची। फिर चादर का फंदा बना लिया। दोनों के साथ खींची सेल्फी ऑफिस में काम करने वाली युवती को वाट्सएप पर भेज दी। अरविंद ने तत्काल फोटो डिलिट भी कर दिए। सूचना पर सुबह युवती पुलिस के पास पहुंच गई। उसके पास अरविंद के फोटो भी थे। उसने कहा कि दोनों बहन-भाई की तरह बातें करते थे। परिजन के मुताबिक, अरविंद को किसी प्रकार की परेशानी नहीं थी। पुलिस आत्महत्या के कारणों की जांच कर रही है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local