इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि।

कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए प्रशासन सतर्क हो गया है। बुधवार को कलेक्टर नीरज सिंह, पुलिस अधीक्षक गुरूकरण सिंह एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आदिवासी विकासखंड केसला एवं इटारसी अस्पताल का दौरा किया। अस्पताल परिसर में तैयार आक्सीजन प्लांट बनकर तैयार हो चुका है, यहां मशीनें भी लगाई जा चुकी हैं। कलेक्टर सिंह ने इस प्लांट की मशीनों को चलाकर देखा और तकनीकी जानकारी ली। कोविड आइसीयू का निरीक्षण भी कलेक्टर ने किया। इस अवसर पर एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी, तहसीलदार राजीव कहार, अधीक्षक डॉ. आरके चौधरी, विधायक प्रतिनिधि भरत वर्मा, संजय मिहानी समेत अस्पताल स्टॉफ मौजूद रहा।

सावधान रहने की जरूरतः कलेक्टर सिंह ने कहा कि विश्व के कई देशों में कोरोना का नया वायरस ओमिक्रोन फैल रहा है, इसकी संक्रमण क्षमता पुराने म्यूटेंट से पांच गुना अधिक है, इसे लेकर लोगों को बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। अभी जिला पूरी तरह महफूज है, लेकिन सावधानी नहीं रखी गई तो खतरा बढ़ेगा। इसकी रोकथाम के लिए सैंपलिंग बढ़ाई जाएगी। मॉस्क जागरूकता के लिए अभियान चलाया जाएगा। सार्वजनिक स्थानों एवं आयोजनों में भीड़भाड़ रोकने का प्रयास होगा। जल्द ही इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग से चर्चा करेंगे।

एमडी नहीं कैसे होगा इलाजः

कलेक्टर को अधीक्षक डा. आरके चौधरी ने बताया कि यहां एमडी मेडीसिन का पद रिक्त पड़ा है। कोरोना संक्रमण के दौरा न प्राइवेट चिकित्सकों के सहयोग से यहां मरीज देखे गए थे। गंभीर मामलों में मरीज को अटेंड करने के लिए एमडी तक नहीं है। कलेक्टर ने कहा इस संबंध में चर्चा करेंगे, मंजूरी होते ही यहां चिकित्सक भेजा जाएगा। कलेक्टर ने सर्जिकल वार्ड में भर्ती मरीजों से भी मुफ्त इलाज की जानकारी ली।

इटारसी बना वैक्सीन मॉडलः

जिले में सबसे बेहतर और सौ फीसद टीकाकरण होने पर कलेक्टर नीरज सिंह ने प्रशंसा जाहिर करते हुए कहा कि इटारसी माडल पूरे जिले के लिए मिशाल है, प्रयास करेंगे कि जो शहर पिछड़े हुए हैं, वहां टीकाकरण के काम में तेजी लाई जा सके। उन्होंने इस सफलता के लिए एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी को बधाई देते हुए कहा कि यहां रघुवंशी के नेतृत्व में अधीक्षक डॉ. आरके चौधरी एवं स्वास्थ्य, आंगनबाड़ी, आशा कार्यकर्ताओं ने मेहनत की है। यहां टीकाकरण केन्द्रों की साज-सज्जा, सेल्फी पाइंट, डोर डिलीवरी, पार्किंग व्यवस्था जैसी सुविधाएं देखने लायक रहीं। जिले के सभी अधिकारियों को इटारसी से सीख लेना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि टीकाकरण अभियान में इटारसी तहसील में सर्वाधिक टीकाकरण हुआ है। प्रशासनिक टीम ने इस काम के लिए रात-दिन एक किया।

बॉक्सः

ग्रामीणों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें

कलेक्टर नीरज सिंह ने आदिवासी विकासखंड केसला का दौरा कर यहां बेहतर सुविधाएं देने के निर्देश दिए। सिंह ने पुलिस अधीक्षक डॉ गुरुकरण सिंह के साथ यहां फीवर क्लीनिक सुखतवा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सुखतवा का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने बीएमओ सुखतवा को निर्देशित किया कि फीवर क्लीनिक का प्रभावी ढंग से संचालन किया जाए। सर्दी, खासी ,बुखार के मरीजों की टेस्टिंग बढ़ाएं। सीएचसी सुखतवा में ओपीडी कक्ष, एएनसी जांच कक्ष आदि वार्डो पर स्वास्थ्य सुविधाओं का अवलोकन कर यहां आवश्यक दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने एवं सभी उपचार और जांच उपकरणों का क्रियाशील रखने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सीएचसी सुखतवा स्थित पोषण पुनर्वास पर भी व्यवस्थाएं देखी और कुपोषित बच्चों की जानकारी ली। उन्होंने निर्देशित किया कि पोषण पुनर्वास केंद्र से स्वस्थ होकर लौटे बच्चों का निरंतर फालोअप किया जाए, जिससे वे दोबारा कुपोषित श्रेणी में ना आए। पंचायत भवन केसला और पंचायत भवन कालाआखर स्थित टीकाकरण केंद्र का भी निरीक्षण किया और नागरिकों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया। कलेक्टर सिंह ने इन टीकाकरण केंद्रों के प्रभारियों को निर्देशित किया कि वे अपडेटेड सूची के अनुसार क्षेत्र के सभी नागरिकों का मोबिलाइजेशन कर उनका टीकाकरण किया जाना सुनिश्चित करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local