इटारसी (नवदुनिया प्रतिनिधि)।

गुरूवार रात पथरोटा थाने के ग्राम जुझारपुर में पुरानी रंजिश पर एक युवक पर कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला किया गया, हमले में जख्मी युवक को गंभीर हालत में नर्मदा अस्पताल रेफर किया गया। इधर पुलिस ने 12 घंटे में हत्या के प्रयास के आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। थाना प्रभारी प्रवीण कुमार चौहान की टीम ने शैलेन्द्र पिता रमेश चौधरी निवासी ग्राम जुझारपुर को जान से मारने की नीयत से कुल्हाड़ी से हमला करने वाले विनोद चौधरी को गिरफ्तार कर लिया। चौहान के अनुसार एसपी नर्मदापुरम डा. गुरूकरन सिंह के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अवधेश प्रताप सिंह के मार्गदर्शन, एसडीओपी महेन्द्र सिंह चौहान के नेतृत्व में आरोपित को घटना के 12 घंटे के अंदर गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। फरियादी संजीव चौधरी पिता विजयशंकर चौधरी निवासी ग्राम जुझारपुर ने नर्मदा अस्पताल में रात 11ः30 बजे रिपोर्ट की थी कि रात 9ः30 बजे गांव में रेलवे गेट के पास स्थित विनोद चौधरी की नाश्ते की दुकान पर मेरा दोस्त शैलेन्द्र चौधरी, विजय चौधरी के साथ चाय पीने के लिए खड़ा था, तभी विनोद और शैलेन्द्र के बीच दुकान के सामने गाड़ी खड़ी करने की पुरानी बात पर बहस व गालीगलौंच होने लगी। संजीव चौधरी और विजय ने दोनों को समझाया, उसके बाद शैलेन्द्र अपने घर जाने के लिए पलटा तो विनोद ने अपनी दुकान में रखी कुल्हाड़ी से शैलेन्द्र को जान से मारने की नीयत से उसके सिर पर पीछे से दो बार कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला कर दिया, कुल्हाड़ी के हमले से शैलेन्द्र बेदम हो गया, उसके सिर से खून बहने लगा, इसके बाद विनोद मौके से भाग गया। घटना के तुरंत बाद हमने शैलेन्द्र के घर पर सूचना दी,उसकी गाड़ी से शैलेन्द्र को विजय, संतोष सराठे और शैलेन्द्र के परिजन इलाज हेतु नर्मदा अपना अस्पताल लेकर आए। शैलेन्द्र के सिर की हड्डी टूटी है, साथ ही उसकी हालत गंभीर थी, इलाज के बाद वह खतरे से बाहर है। इस मामले में देहात पुलिस ने मामला दर्ज कर डायरी थाना पथरौटा भेजी, यहां हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया।

कुल्हाड़ी बरामद की

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुये एसपी ने हत्या के प्रयास के संबंध में प्राप्त निर्देशों के आधार पर एसडीओपी महेन्द्र सिंह चौहान के मार्गदर्शन में टीम बनाई। पुलिस ने 12 घंटे में आरोपित विनोद चौधरी पिता पद्माकर चौधरी निवासी ग्राम देहरी जुझारपुर को गिरफ्तार किया गया। आरोपित के कब्जे से घटना में प्रयुक्त कुल्हाड़ी बरामद की गई। कार्रवाई में निरीक्षक प्रवीण कुमार चौहान, सहायक उपनिरीक्षक मानिक सिंह बट्टी, हीरालाल धुर्वे, केपी खेड़ले, प्रधान आरक्षक हेमन्त सिंह, विनोद, आरक्षक गोपाल, अनुज, प्रआर कन्हैयालाल गौर, एफआरव्ही चालक असलम खान की अहम भूमिका रही है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close