इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि।

भोपाल मंडल के मंडल रेल प्रबंधक उदय बोरवणकर ने गुरुवार को रेलवे स्टेशन का मैराथन दौरा किया। परख स्पेशल ट्रेन से आए डीआरएम करीब 6 घंटे इटारसी स्टेशन पर रुके। सुबह 11ः30 बजे इटारसी आए डीआरएम ने स्टेशन पर चल रहे सेंकड फुट ओवर ब्रिज, प्लेटफार्म के शेड विस्तार समेत अन्य निर्माण कार्यों का जायजा लिया। डीआरएम ने अनलॉक के बाद बढ़ती ट्रेनों की संख्या के हिसाब से साफ-सफाई व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सफाई मशीनों से कराई जाए चूंकि सफाई कंपनी मशीनों से सफाई का पैसा ले रही है। प्लेटफार्म 4 पर संचालित एचडी एंड संस के खानपान स्टॉल पर गंदगी एवं खुले में खाना बिकते देख उन्होंने स्टॉल संचालक पर दस हजार रुपये का जुर्माना किया। यहां निरीक्षण के बाद डीआरएम का काफिला न्यूयार्ड के डीजल शेड, विद्युत लोको शेड एवं रेलवे स्कूल का दौरा कर यहां चल रहे निर्माण कार्यों एवं भविष्य की योजनाओं पर चर्चा की। यहां निरीक्षण के बाद डीआरएम ने मालगोदाम में व्यापारियों की बैठक लेकर रेलवे से माल परिवहन बढ़ाने को लेकर चर्चा की। व्यापारियों एवं ट्रक ऑनर्स ने मालगोदाम की समस्याएं बताते हुए कहा कि कई सालों से हम लोग परेशान हैं। डीआरएम ने कहा कि यहां रात में प्रकाश व्यवस्था, हम्मालों के लिए विश्राम गृह, सड़क निर्माण, पेजजल समेत अन्य व्यवस्थाओं का इतंजाम कराया जाएगा, इस संबंध में उन्होंने अधिकारियों को प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए। डीआरएम ने कहा कि रेलवे परिवहन बेहद सस्ता है, अब रेलवे नई योजना के तहत छोटे 21 वैगन के रैक और भाड़े में छूट का लाभ दे रही है, इसलिए परिवहन में रेलवे का सर्वाधिक उपयोग करें, जिससे रेलवे की आय में बढ़ोतरी हो सके। इस अवसर पर स्टेशन प्रबंधक राजीव चौहान, स्वास्थ्य निरीक्षक एचके साहू, एसएसई विद्युत, एईएन, डीईएन गौरव मिश्रा समेत सभी विभागों के सुपरवाइजर मौजूद रहे। शाम 5ः30 बजे दौरे के बाद डीआरएम का काफिला भोपाल के लिए रवाना हो गया। डीआरएम ने अधिकारियों को नसीहत दी है कि आईएसओ अवार्ड ले चुके स्टेशन की व्यवस्थाओं में बेहतरी के प्रयास किए जाएं। मुख्य रूप से यहां की साफ-सफाई पर फोकस किया जाए।

दो साल नहीं हटेगा मालगोदाम, व्यापारियों से मांगा सहयोगः

डीआरएम ने मालगोदाम में परिवहनकर्ता, ठेकेदार और हम्मालों से मालगोदाम की आय बढ़ाने संबंधी चर्चा करके उनसे सुझाव मांगे। परिवहनकताओं ने साफ कहा कि जब तक सुविधाएं नहीं होंगी, आय बढ़ाने की बात करना ठीक नहीं है। डीआरएम को रेलवे मालगोदाम में सुविधाओं को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा गया।

यहां काम करने वाले परिवहनकर्ताओं ने डीआरएम से कहा कि पिछले दिनों भी कई अधिकारी आए, हमारी समस्याएं सुनी और उनका कोई निराकरण नहीं हुआ। डीआरएम ने कहा कि मुझे बताएं, मार्च तक सभी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

व्यापारियों ने मालगोदाम का समय 24 घंटे से घटाकर 16 घंटे करने की मांग रखी, जिसे मंजूर कर लिया गया। अब 16 घंटे काम होगा और आठ घंटे की छूट मिलेगी। इसके अलावा मालगोदाम में गंदगी की समस्या से निजात दिलाने, धूल से मुक्ति के लिए रोड, पेयजल, सिलीपाट बिछाने, लाइट की समस्या का निदान करने आदि की मांग परिवहनकर्ताओं और हम्मालों ने रखी। अधिकांश समस्या मार्च तक खत्म करने का आश्वासन डीआरएम से मिला है।

इस अवसर पर ट्रक ऑनर एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय टप्पू मिश्रा, रिंकू भाटिया, बंटी लाम्बा, लोकेश शाह, शाहनबाज बेग, मोनू जैन, नवनीत हेडा सहित मालगोदाम में किसी न किसी कार्य से जुड़े करीब तीन दर्जन से अधिक लोग शामिल हुए। डीआरएम को अपनी मांगों का एक ज्ञापन भी सौंपा गया। मालगोदाम शिफ्टिंग के मामले में उन्होंने कहा कि रेलवे फिलहाल घाटे में है, इसलिए दो साल तक यह नहीं हो सकेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस