इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि।

पूजा पाठ में लगने वाले तरल द्रव्य के नाम पर मिलावटी घी का कारखाना चलाने वाले मो. रिजवान कुरैशी की पत्नी शिरीन के साथ जबलपुर निवासी एक कियोस्क संचालक हिमांशु यादव ने 9 लाख रुपये की धोखाधड़ी कर पैसे ऐंठ लिए। शिरीन की शिकायत पर पुलिस ने हिमांशु के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

अफसरों से पहचान का रूतबा दिखायाः प्रदेश सरकार के शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी की टीम ने चयन कॉलोनी में रिजवान के घर पर संचालित घी कारखाने पर दबिश देकर यहां बड़े पैमाने पर मिलावटी घी बरामद किया था। इस मामले में रिजवान पर कलेक्टर द्वारा रासुका के तहत कार्रवाई की गई थी। पति पर मामला दर्ज होने के बाद से पति फरार था, उसकी रिहाई के लिए परेशान पत्नी शिरीन का संपर्क हिमांशु यादव से हुआ। हिमांशु कियोस्क सेंटर का संचालन करता था, उसने शिरीन को कहा कि मेरे जिले के कई बड़े अफसरों से सीधी पहचान है, तुम मुझे पैसे दो तो मैं तुम्हारे पति की रासुका हटवाकर सारी कार्रवाई निरस्त करा दूंगा। उसके झांसे में आकर शिरीन ने अपने खाते से 3 अप्रेल 2021 से 8 अगस्त 2021 के बीच एनईएफटी के जरिए 9 लाख 38 हजार रुपये हिमांशु के खाते में ट्रांसर्फर कर दिए लेकिन, इसके बावजूद उसके पति रिजवान का काम नहीं हुआ। कई बार उसने हिमांशु को कहा तो वह लगातार उसे गुमराह करते हुए कहता रहा कि मेरी अफसरों से सेटिंग हो गई है, जल्द ही तुम्हारा काम हो जाएगा। ठगी का शिकार होने के बाद शिरीन ने इस मामले में थाने में आवेदन दिया, जिसके बाद पुलिस ने आरोपित हिमांशु यादव पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। टीआइ रामसनेही चौहान ने बताया कि जल्द ही आरोपित गिरफ्तार होगा, उसकी तलाश की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local