इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि। आइएसओ दर्जा प्राप्त देश के बड़े रेल जंक्शन पर बेसहारा मवेशियों की एंट्री बंद नहीं हो सकी है। रेलवे द्वारा कागजों में हाका गैंग चलाने के बावजूद प्लेटफार्मो से लेकर आउटर तक और रेलवे ट्रेक तक मवेशियों का जमघट नजर आता है, कई बार प्लेटफार्म पर लगने वाली ट्रेनों के सामने आकर मवेशी इंजन चालकों के लिए मुसीबत बन जाते हैं, कई बार इन्हें हटाने के लिए हार्न बजाने से लेकर इंजन रोकना पड़ता है, तो कई बार रफ्तार तेज होने पर ये इंजन से कट जाते हैं। मौत होने पर इनका शरीर इंजन में फंसने से गाड़ी खड़ी करना पड़ती है।

आउटर पर चला रहे मुहिमः खास बात यह है कि आए दिन भोपाल रेल मंडल में डीआरएम के निर्देश पर आरपीएफ रेलवे ट्रेक पर विचरण करने वाले मवेशियों को हटाने के लिए पशुपालकों को समझाइश देते हुए नजर आती है, कई बार इन्हें मामला दर्ज करने की धमकी भी दी जाती है। यहां आउटर तो ठीक रेलवे स्टेशन से ही मवेशी नहीं खदेड़े जा रहे हैं। दिखावे के लिए स्टेशन प्रबंधक कार्यालय हाका गैंग होने की बात भी कहता है, लेकिन आज तक यह गैंग कभी मौके पर नजर नहीं आई। वेंडर बताते हैं कि मवेशी कई बार स्टॉलों के आसपास आ जाते हैं। दरअसल पूरा रेलवे आउटर एरिया खुला हुआ है, इसी वजह से अंदर मवेशी आ जाते हैं। यात्रियों एवं वेंडरों द्वारा फेंकी जाने वाली खाद्य सामग्री खाने के लालच में मवेशी अंदर पहुंचते हैं।

यात्री भी परेशानः मवेशियों को प्लेटफार्म पर आने से रोकने कई जगह काउकेचर भी लगाए गए हैं, लेकिन इसके बावजूद मवेशी अंदर आते हैं और अंदर यात्रियों एवं स्टॉल संचालकों के लिए परेशानी बनते हैं। मवेशियों के कारण परिसर में गंदगी भी होती है। गौवंशीय मवेशियों के अलावा अंदर कुत्ते, बंदर तक घूमते हैं, पिछले दिनों ओएचई लाइन की चपेट में आकर एक बंदर जख्मी हो गया था। इस मामले में जेडआरयूसीसी सदस्य राजा तिवारी ने कहा कि इस संबंध में अधिकारियों से बात की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local