इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि।

दीपावली पर लगने वाले शहर के पटाखा बाजार को लेकर एक कारोबारी ने कावेरी स्टेट के एक आवास में बिना अनुमति लाखों रूपये के पटाखे रखे थे। सूचना मिलने पर एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी एवं पुलिस विभाग की टीम ने यहां से करीब तीन लाख रूपये के पटाखे बरामद किए। जानकारी के अनुसार यह आवास भूपेन्द्र चौकसे ने किराए पर ले रखा है, चौकसे पटाखा कारोबारी हैं। एसडीएम ने बताया कि अभी तक लाइसेंस नवीनीकरण भी नहीं हुए हैं। रिहायशी इलाके में बिना अनुमति बारूद का ढेर बनाकर रखा गया था। टीम ने चौकसे के मकान पर भी दबिश दी, यहां भी पटाखों का अवैध जखीरा बरामद हुआ है। एसडीएम ने बताया कि मामले की जांच कर रही है।

जांच के दौरान भूपेन्द्र मौके पर नहीं मिला, उसे खरब भेजी गई थी, यदि चौकसे नहीं आए तो मकान को सील किया जाएगा। इस कार्रवाई की भनक लगते ही अन्य पटाखा कारोबारियों ने रिहायशी इलाकों में रखे अपने पटाखे छिपा लिए। शहर में हर साल दीपावली के अलावा साल भर रिहायशी इलाकों में बड़े पैमाने पर आतिशबाजी एवं पटाखों का अवैध रूप से भंडारण किया जाता है, नियमों को ताक पर रखकर पूरे इलाके की सुरक्षा खतरे में डाली जाती है, ऐसी हालत में यदि कोई हादसा हुआ तो पेटलावद जैसी विस्फोटक घटनाएं सामने आएंगी।

नपा कर्मचारियों को धमकाया, थाने पहुंचा मामला

इटारसी। बुधवार को वार्ड 23 में लाइट सुधारने गए कर्मचारियों को यहां रहने वाले डिप्टी उर्फ कुलजीत सिंह छाबड़ा ने धमकाने का प्रयास किया। सूचना मिलने पर जब सब इंजीनियर आदित्य पांडेय ने बताया कि नपा कर्मचारियों से गालीगलौंच कर जातिसूचक शब्दों का उपयोग किया गया है। इस मामले में सभी कर्मचारी थाने पहुंचे और छाबड़ा के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए आवेदन दिया है। छाबड़ा पर शासकीय काम में बाधा, एक्टोसिटी एक्ट समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज हो सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local