Itarsi News: इटारसी (होशंगाबाद)। अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय हॉकी टीम से खेलकर 4 महीने बाद अपने घर रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने पहुंचे। विवेक के स्वागत के लिए उनकी बड़ी बहन पूनम प्रसाद सागर एवं छोटी बहन पूजा सागर तैयार थीं। विवेक के पसंदीदा गुलाब जामुन बनाये थे। सुबह दोनों बहनों ने विवेक कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर अपनी रक्षा का वचन लिया। उपहार स्वरूप दोनों बहनों ने ओलंपिक में मिले कांस्य पदक को हाथ में लेकर विवेक को इस जीत की बधाई दी। बहनों ने कहा कि विवेक ने पहले ही हमें राखी का तोहफा भारत देश को ओलिंपिक में जिताकर दिया है। हम चाहते हैं कि अगले ओलिंपिक में हमारा भाई स्वर्ण पदक हासिल करे।

4 महीने के लंबे इंतजार के बाद विवेक अपने घर लौटा है। इस साल की राखी पूरे परिवार के लिए दोगुनी खुशी लेकर आया है। इस बार विवेक ने भारतीय हॉकी टीम से खेलकर भारत के लिए 41 साल बाद कांस्य पदक जीता है। इस जीत में विवेक की अहम भूमिका रही है।

विवेक ने बताया कि पूरे परिवार के साथ लंबे समय बाद वक्त बिताया है। इटारसी के स्वागत समारोह के बाद एक बार फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से उनकी मुलाकात होना है, इसके बाद वे मुंबई रवाना होंगे। व्यस्तता की वजह से उनके घर लगातार दोस्तों, ग्रामीणों एवं रिश्तेदारों का तांता लगा हुआ है। कल इटारसी में विवेक का ऐतिहासिक सम्मान समारोह रखा गया है।

पिता रोहित सागर प्रसाद ने बताया कि इस बार का रक्षाबंधन बेहद खास रहा है। भाई विधा सागर मां कमला प्रसाद ने बताया कि विवेक पिछले 4 माह से लगातार बाहर रहा अब उससे मिलकर बहुत अच्छा लग रहा है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close