Satpura Tiger Reserve: इटारसी (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के चूरना परिक्षेत्र में घूमने आईं फिल्म अभिनेत्री रवीना टंडन की जंगल सफारी विवाद में नया मोड़ आ गया है। इस घटनाक्रम के बाद जहां रवीना कई प्लेटफार्म पर अपनी सफाई पेश करते हुए नजर आ रही हैं, वहीं इस मामले में वन्य प्राणी विशेषज्ञ एवं आरटीआइ कार्यकर्ता अजय दुबे ने राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के सदस्य सचिव को पत्र लिखकर कहा है कि सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में पार्क प्रबंधन व्हीआइपी पर्यटकों की विधि विरुद्ध सेवा सत्कार में लगा हुआ है, इस वजह से फिल्म अभिनेत्री रवीना टंडन की चूरना परिक्षेत्र में हुई यात्रा से बाघ से कथित छेड़छाड़ और गैर जिम्मेदाराना वाहन संचालन का मामला सामने आया। इस मामले में रवीना टंडन और गाइड सहित ड्राइवर पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। यह मामला एसटीआर के पर्यटन प्रबंधन में गंभीर लापरवाही को उजागर करता है और भविष्य में किसी बड़ी दुर्घटना की आशंका को जन्म दे सकता है।

बघीरा एप लागू करे प्रबंधन

दुबे ने अपनी शिकायत में कहा कि भारत सरकार के राजपत्र में एनटीसीए गाइडलाइंस के मुताबिक पर्यटकों के वाहनों में जीपीएस नेविगेशन सिस्टम लगाने का प्रविधान किया गया है, लेकिन एनटीसीए के कई निर्देशों के बावजूद गड़बड़ियों को अंजाम देने हेतु सतपुड़ा टाइगर रिजर्व ने इस सिस्टम को नही लागू किया। पिछले सप्ताह सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के दूसरे क्षेत्र में भी एक बाघ पर्यटकों के वाहन के पीछे दौड़ा था। दुबे ने शिकायत में कहा है कि इससे पहले उन्होंने केंद्रीय रसायन मंत्री भगवंत खूबा की एसटीआर के कोर एरिया में हुई यात्रा में व्हीआइपी ट्रीटमेंट की शिकायत का हवाला भी दिया था, इसके वीडियो में खूबा स्वयं गाड़ी चलाते हुए नजर आ रहे हैं। एनटीसीए सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में एनटीसीए पर्यटन गाइड लाइन और वाइल्ड लाइफ एक्ट उल्लंघन के मामले को गंभीरता से लेकर मैदान में जाकर जांच करें, साथ ही जीपीएस सिस्टम बघीरा एप लागू किया जाए।

कोई गलती नहीं हुई : रवीना

इधर इस मामले में फिल्म अभिनेत्री रवीना टंडन लगातार ट्विटर एवं अन्य इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म पर सफाई दे रही हैं, उनका कहना है कि इस मामले में कोई भी दोषी नहीं है, बहुत सारे आईएफएस अफसरों ने वीडियो देखा है, जिसमें किसी को गलत नजर नहीं आया। न हम लोग बाघिन के पास गए थे, न हमारी गाड़ी उसकी तरफ गई थी। जब बाघिन सामने आ रही थी, तभी ड्राइवर ने वाहन पूरा रिवर्स कर लिया, जिससे बाघिन आराम से रास्ता क्रास कर जाए। टंडन का कहना है कि मेरे साथ मौजूद ड्राइवर और टूरिस्ट गाइड की ओर से भी किसी तरह की चूक नहीं हुई है। सच जांच के बाद सामने आ जाएगा।

जांच जारी है

रवीना टंडन मामले में विभागीय स्तर पर जांच की जा रही है। इसका जांच प्रतिवेदन तैयार कर वरिष्ठ अधिकारियों को पेश किया जाएगा, किसी भी स्तर पर चूक पाई गई तो उसमें कार्रवाई की जा सकती है। पार्क में आने वाले सैलानी व्हीआईपी नहीं रहते। तय नियमों के अनुसार हमने प्रशिक्षित चालक, गाइड और अमला जंगल में तैनात किया है।

- धीरेन्द्र सिंह चौहान, जांच अधिकारी एसटीआर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close