जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सेशन कोर्ट ने अबोध व मानसिक रुप से कमजोर बच्ची से दुष्कर्म के आरोपित गोसलपुर निवासी नीरज राजभर का दोष सिद्ध होने पर 10 वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई। साथ ही पांच हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। अभियोजन की ओर से विशेष लोक अभियोजक दिलावर धुर्वे ने पक्ष रखा।

उन्होंने दलील दी कि पीड़ित बच्ची की मां ने पुलिस थाना गोसलपुर में रिपोर्ट दर्ज कराई, जिसके अनुसार वह अपने पति, सास, ससुर व चार बच्चियों के साथ रहती है। मजदूरी करके गुजर-बसर करते हैं। छोटी लडकी 10 वर्ष की है। वह मानसिक रूप से कमजोर है व कम बोल पाती है। 20 अप्रैल, 2021 की शाम साढ़े चार बजे बच्ची मोहल्ले में खेलने गई। करीब आधे घंटे बाद रोते हुए आई तो उसने देखा कि उसकी लैगी व फ्राक में खून लगा हुआ था। बच्ची से पूछा गया तो उसने बताया कि मोहल्ले के नीरज राजभर ने अपने घर में ले जाकर प्रताडित किया है। विवेचना के बाद आरोपित को गिरफ्तार कर चालान अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया गया। प्रकरण में 17 साक्षियों को न्यायालय मे परीक्षित कराया गया। सुनवाई के बाद कोर्ट ने आरोपित नीरज राजभर को दोष सिद्ध करार देकर सजा सुना दी।

नाबालिग का पीछा करने पर तीन वर्ष का कारावास, दो हजार जुर्माना :

सेशन कोर्ट ने नाबालिग किशोरी का गलत नीयत से पीछा करने के आरोपित विजय नगर निवासी अनूप चौरसिया का दोष सिद्ध होने पर तीन वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई। साथ ही दो हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। अभियोजन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी मनीषा दुबे ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि पीड़िता के पिता ने नौ फरवरी, 2014 को थाना विजय नगर में शिकायती आवेदन दिया, जिसमें कहा गया कि एक आटो चालक लगातार 15 दिनों से उसकी नाबालिग पुत्री का पीछा कर रहा है। पीड़िता जब स्कूल से आती है व कोचिंग जाती है, तब वह आटो चालक पीड़िता को देख कर मुस्कुराता है। उसका पीछा करता है व उसे अपनी आटों में बैठने का इशारा करता है।

यह जानकारी पीड़िता ने अपने पिता को दी। उसने कालोनी में लगे सीसीटीवी कैमरे के विडियो फुटेज देखे। इसमें आटो चालक पीड़िता का पीछा करते पाया गया। तब पीड़िता के पिता ने डायल 100 के सहयोग से आटो चालक की शिकायत की। इस पर थाना विजयनगर में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार किया गया। अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। सुनवाई के बाद कोर्ट ने आरोपित को दोष सिद्ध करार देकर सजा व जुर्माने से दंडित किया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close