जबलपुर नईदुनिया प्रतिनिधि।महिला एवं बाल विकास ने शहपुरा थानांतर्गत 16 वर्ष की किशोरी के हो रहे विवाह को रुकवाया। सहायक संचालक महिला एवं बाल विकास मनीष सेठ को चाइल्ड लाइन से थाना शहपुरा थाना के अंतर्गत एक गांव में बाल विवाह की सूचना मिली थी। इस अवसर पर सहायक संचालक ने सूचना पर तत्काल संज्ञान लेते हुए परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास शहपुरा डा़ कांता देशमुख के नेतृत्व में टीम गठित कर गांव के लिए रवाना किया।

टीम ने मौके पर पहुंचकर किशोरी के माता-पिता से चर्चा की। उनसे किशोरी के आयु संबंधी दस्तावेज मांगे। दस्तावेजों के परीक्षण में पाया गया कि किशोरी की उम्र लगभग 16 वर्ष ही है, जो कि दस्तावेजों में उसकी उम्र 21 नवम्बर 2006 दर्ज थी।

महिला एवं बाल विकास की टीम ने मौके पर ग्रामीणजनों, सरपंच, ग्राम कोटवार और पुलिस बल के समक्ष बालिका के माता पिता को उसका विवाह 18 वर्ष की उम्र के पश्चात ही करने की समझाइश दी गई तथा बाल विवाह के दुष्परिणामों से अवगत कराया गया। कार्रवाई के दौरान पर्यवेक्षक रूमावाला सोनी, नीलम कश्यप, संध्या विश्वकर्मा, अंकिता छिरौल्या, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शशि सोनी मौजूद रहीं।

मतांतरण के लिए मारपीट का आरोप

जबलपुर। सिहोरा के लखराम मोहल्ला में रहने वाला सुभाष झारिया ने मंगलवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर शिकायत दी। उसने आरोप लगाया कि मतांतरण करने के लिए उस पर दबाव बनाया जा रहा है। उसकी बातें नहीं मानने पर उसके साथ आरोपित द्वारा मारपीट की जा रही है। मतांतरण करवाने वाले व्यक्ति के मंसूबों को समझने के बाद जब सुभाष झारिया ने उसकी बात मानने से इन्कार किया, तो उक्त व्यक्ति ने उससे मारपीट कर जान से खत्म करने और झूठे केस में फंसवाने की धमकी दी। मामले में जांच व उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close