जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर को शुद्ध प्राणवायु देने वाली ऐतिहासिक मदनमहल पहाड़ी और हरी भरी होगी। वर्षाकाल के दौरान यहां खाली पड़ी भूमि में अंकुर अभियान के तहत विभिन्न प्रजातियों के 20 हजार औषधीय, फलदार व छायादार पौधों का रोपण किया जाएगा। पौधारोपण अभियान की तैयारियों को लेकर कलेक्टर डा इलैया राजा टी और निगमायुक्त ने पहाड़ी का निरीक्षण किया और विभागीय अधिकारियों से अभियान के संबंध में जानकारी ली। अधिकारी द्वय ने पौधा रोपण कार्यक्रम के तहत विभिन्न प्रजातियों के उच्च क्वालिटी के पौधे लगाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि इस कार्य में सभी समाजिक संगठन, पर्यावरण प्रेमी और समाजिक संस्थाओं को शामिल किया जाए। सभी के सहयोग से ही ये संभव हो पाएगा। विदित हो कि इसके पहले भी अतिक्रमण मुक्त हुई पहाड़ी में वृहद स्तर पर पौधारोपण किया गया था। समाजिक संस्थाओं को पौधारोपण करने और उनकी देखभाल के लिए स्लाट आबंटित किए गए थे। मदनमहल की ऐतिहासिक पहाड़ी में अब एक लाख पौधों का रोपण किया गया है। जिसमें दुर्लभ प्रजाति के पौधे भी अब पेड़ का रूप ले चुके हैं।

संभावित जलभराव क्षेत्र को भी लिया जायजा-

कलेक्टर और निगमायुक्त ने वर्षाकाल के दौरान शहर के संभावित जलभराव वाले वार्ड व क्षेत्रों का भी जायजा लिया। अधिकारी द्वय नगर निगम के गढ़ा और फिर कछपुरा जोन के अंतर्गत आने वाले सभी वार्डो, कालोनियों का निरीक्षण किया और सफाई अभियान के साथ-साथ वर्षा जल निकासी की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। संबंधित अधिकारियों से नाला-नालियों की सफाई अभियान की जानकारी ली। अधिकारी द्वय ने स्वास्थ्य अमले के साथ-साथ वर्षाकाल के दौरान आपदा प्रबंधन व्यवस्था में कार्यरत अन्य सभी अधिकारियों कर्मचारियों को भी निर्देशित किया कि सभी लोग अपने अपने क्षेत्रों में रहकर वर्षाकाल के दौरान अतिवृष्टि की स्थितियों पर नजर रखेगें और आवश्यकतानुसार संभावित जलभराव वाले क्षेत्रों में अपनी टीम की तैनाती कर कार्रवाई सुनिश्चित करेगें।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close