जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। न्यू लाइफ मल्टी स्पेशिएलिटी अस्पताल अग्निकांड मामले में पूर्व सीएमएचओ डा. रत्नेश कुरारिया के बयान दर्ज किए गए। निजी अस्पतालों को संचालन की अनुमति देने संबंधी कमेटी से जुड़े अन्य लोगों को भी बयान के लिए तलब किया गया है। शासन के निर्देश पर संभागायुक्त बी चंद्रशेखर की अध्यक्षता में गठित चार सदस्यीय टीम मामले की जांच कर रही है।

निजी अस्पतालों को संचालन की अनुमति देने के लिए निर्धारित मापदंड का पालन किए बगैर पंजीयन देने के संबंध में जांच कमेटी पूछताछ कर रही है। इधर, कलेक्टर के निर्देश पर गठित स्वास्थ्य विभाग की 43 टीमें अब तक 100 से ज्यादा निजी अस्पतालों की जांच कर चुकी हैं, जिनकी रिपोर्ट कलेक्टर के समक्ष पेश की जा चुकी है। बुधवार को टीम ने 20 अन्य निजी अस्पतालों की जांच की। अस्पतालों में व्याप्त कमियों के कारण स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम के कई अधिकारी व कर्मचारी संदेह के घेरे में आ गए हैं।

बुधवार को जिन अस्पतालों की जांच की गई उसमें शीतलछाया अस्पताल मालवीय चौक, जीवन ज्योति अस्पताल आधारताल, डा. एसएन बोस अस्पताल नर्मदा रोड, शिवसागर अस्पताल एमआर-4 रोड, नर्मदा अस्पताल एमआर-4 रोड, समर्थ श्री अस्पताल उखरी और मुस्कान हेल्थ केयर अस्पताल जयनगर शामिल हैं। विदित हो कि नियम विरुद्ध तरीके से संचालित न्यू लाइफ मल्टी स्पेशिलिटी अस्पताल में एक अगस्त को हुए अग्निकांड में आठ लोगों की जिंदा जलने से मौत हो गई थी। पांच अन्य लोग घायल हुए थे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close