जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना का साया मानो रानी दुर्गावती यूनिवर्सिटी में ही नजर आ रहा है यूनिवर्सिटी दफ्तर बंद है। हर कोई घर में आराम फरमा रहा है। यहां 45 नतीजे बनकर तैयार है लेकिन रिजल्ट कमेटी के दस्तख्त की वजह से नतीजे फाइलों में कैद है। करीब आठ हजार से ज्यादा विद्यार्थी हर दिन नतीजों के घोषित होने की आस लगाए बैठें है। उन्हें डर है कि लगातार होती देरी से उनका शैक्षणिक सत्र बहुत ज्यादा न पिछड़ जाए। ये सवाल इसलिए भी क्योंकि प्रदेश की अन्य यूनिवर्सिटी में लगातार नतीजे घोषित हो रहे हैं।

क्या है मामला: प्रभारी कुलसचिव प्रो.एनसी पेंडसे के अनुसार बीएड,एलएलबी समेत स्नातकोत्तर के करीब 45 रिजल्ट बनकर तैयार है। इनकी परीक्षाएं नवंबर दिसंबर 2020 में आयोजित हुई थी। ये प्रथम और तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा थी। लाकडाउन 10 मार्च से लागू हुआ है। इससे पहले नतीजे बन चुके थे। लेकिन शिक्षकों की गैरहाजिरी में नतीजे नहीं घोषित हुए।

10 फीसद क्षमता से क्यों नहीं काम: उच्च शिक्षा विभाग ने शिक्षण संस्थानों को विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिहाज से कक्षाएं बंद की है लेकिन जरूरी कामकाज को महज 10 फीसद उपस्थिति के साथ चालू रखने की हिदायत दी है। फिर भी यूनिवर्सिटी ने इस पर अमल क्यों नहीं किया। 12 अप्रैल को उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने सभी यूनिवर्सिटी को नतीजे शीघ्र घोषित करने के निर्देश ​भी दिए थे। प्रदेश के जीवाजी यूनिवर्सिटी ग्वालियर और बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी भोपाल में लाकडाउन के बीच भी नतीजे जारी हुए है उनकी आफिशियल बेवसाइट पर रिजल्ट जारी होने की सूचना भी अपलोड की गई है।

शिक्षकों को बारी-बारी से क्यों नही बुलाया: शिक्षकों को प्रशासन नतीजों की जरूरत के हिसाब से यूनिवर्सिटी में बुला सकता था लेकिन ऐसा नहीं किया। एक भी प्राध्यापक यूनिवर्सिटी में उपस्थिति नहीं हो रहा है। वहीं छात्रों का कहना है कि सिर्फ अधिकारी,कर्मचारियों और शिक्षकों को वेतन भुगतान के लिए गुपचुप तरीके से प्रशासन ने विभागों को खोलकर फाइलें मंजूरी करवा ली। इसी ढंग से प्रशासन को नतीजे जारी करने को लेकर भी प्रयास करना था।

Posted By: Sunil Dahiya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags