जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंटरनेट पर कार बेचने की पोस्ट के झांसे में आकर युवक 80 हजार पांच सौ रुपये की ठगी का शिकार हो गया। कार बेचने वाले ने खुद को सेना का अफसर बताते हुए कार बेचने की बात कही। युवक बातों में आकर आनलाइन रकम भी भेज दी, लेकिन जब न कार मिली और न ही रकम मिली, तो पीड़ित समझ गया कि उसके साथ ठगी हुई है। मामले की शिकायत पीडि़त ने बेलबाग पुलिस से की। जांच के बाद शनिवार को पुलिस ने आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया।

पुलिस ने बताया कि बाई का बगीचा निवासी विकास दुबे ने फेसबुक में एक पोस्ट देखी। यह पोस्ट संजय कुमार बैरागी के एकाउंट से डाली गई थी। जिसमें कार एमपी 20 सीएम 1652 बेचने का जिक्र था। विकास ने पोस्ट में दिए गए मोबाइल नम्बर पर फोन किया, तो बात करने वाले ने खुद का नाम भूपेन्द्र साहू बताया। यह भी बताया कि वह सिहोरा का निवासी है, और वर्तमान में सेना में श्री नगर में पदस्थ है। अपने घर की आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए कार बेचने की बात कही।

विकास उसकी बातों में आ गया। जिसके बाद ठग ने विकास को एकाउंट नंबर दिया। जिसमें मोबाइल वॉलेट के जरिए 26 दिसंबर को विकास ने साढ़े 17 हजार रुपये डाले। इसके बाद दूसरे दिन दो बार 31 हजार 500, 31 हजार 500 रुपये उक्त खाते में डाले। इसके बाद आरोपी ने फिर से 20 हजार रुपये डालने को कहा, तो विकास को समझ आ गया कि उसके साथ ठगी हो रही है। तब उसने कार देने की बात कही। लेकिन न तो उसे कार मिली और न ही खाते में भेजी गई रकम। पुलिस मोबाइल नंबर और खाता नंबर के आधार पर आरोपी का पता लगा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local