जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ बुलवाए गए बंद के दौरान आंदोलनकारियों को उस वक्त कारोबारियों के आक्रोश का सामना करना पड़ा, जब आंदोलनकारी बाजार में जबरन दुकान बंद करवाने के लिए गए। कारोबारियों ने पलटवार करते हुए उनकी जमकर पिटाई कर दी।

सोमवार को अनुसूचित जाति जनजाति समाज के सदस्यों ने शहर में भ्रमण कर दुकानों को बंद कराने के लिए आग्रह करते वक्त गढ़ा फाटक के व्यापारी आक्रोशित हो गए। व्यापारियों ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ाकर मारपीट कर दी। जिसके बाद सभी सदस्यों ने भागते हुए अपने आप को सुरक्षित किया।

फोन पर दी अन्य सदस्यों को सूचना-

अनुसूचित जाति, जनजाति समाज के सदस्यों ने अपने दूसरे सदस्यों को फोन पर जानकारी दी। वह किसी दूसरे क्षेत्र में जुलूस में शामिल थे। सूचना पर वह सभी वहां पहुंचे और एकजुट होकर लार्डगंज थाने पहुंचे। जहां उन्होंने मामले की शिकायत के लिए कहते हुए थाने में ही धरना देकर बैठ गए। धरना एक घंटे तक चला। जिसके बाद टीआई लार्डगंज सुशील चौहान ने उन्हें उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।