जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जवाहरलाल नेहरु कृषि विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने मध्यप्रदेश के व्यावसायिक परीक्षा मंडल भोपाल द्वारा ली गई कृषि विस्तार अधिकारी एवं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी के रिक्त पदों की परीक्षा में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया है।

परिणाम सामने आने पर खुली पोल: उन्होंने कहा कि इसमें हुए फर्जीवार्ड की जांच की जाए। कृषि विवि के छात्र गोपी अंजना ने कहा कि 10 और 11 फरवरी को यह परीक्षा आयोजित हुई। परीक्षा के दौरान ही प्रतिभागी छात्रों ने परीक्षा में गड़बड़ी का आरोप लगाया, लेकिन उनकी बात किसी ने नहीं सुनी, जब परिणाम आए तो यह बात सच साबित हो गई।

सवाल के उत्तर गलत बता रहे: कृषि छात्रों ने बताया कि जब परिणाम आए, जिसमें कई छात्रों ने 200 नंबर में से 190 और 195 नंबर हासिल किए। जबकि मंडल द्वारा जारी की गई उत्तर पुस्तिका में 100 सवाल में से तीन उत्तर गलत हैं। छात्रों ने आरोप लगाया कि यदि इतने अधिक नंबर पाने वाले पढ़ने वाले छात्र होते तो उन तीन सवालों के उत्तर क्यों देते। प्रदेश सरकार ने भले ही व्यापम का नाम बदल दिया हो, लेकिन अभी भी वहां पर गड़बड़ी होना बंद नहीं हुई। कृषि छात्रों ने इस परीक्षा की जांच करने की मांग की है।

व्यवसायिक परीक्षा में उत्कृष्ट स्थान हासिल किया : उन्होंने कहा कि कई छात्र ऐसे हैं जिनके परीक्षा के दौरान कब नंबर आते हैं लेकिन व्यवसायिक परीक्षा में उन्होंने उत्कृष्ट स्थान हासिल किया है। जिससे सीधा प्रतीत होता है कि परीक्षा में धांधली की गई है । छात्रों ने इस परीक्षा की जांच की मांग करते हुए कहा है कि यदि व्यवसायिक परीक्षा मंडल ने इस मांग को गंभीरता से नहीं लिया तो वह प्रदेश स्तर पर और बड़े स्तर पर प्रदर्शन किया जाएगा। हमारी मांगे कि जल्द से जल्द इस मामले में जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

Posted By: Sunil Dahiya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags