कलेक्टर से मांगी जमीन, जल्द होगी एयरफोर्स अधिकारियों के साथ बैठक

जबलपुर। डुमना एयरपोर्ट का विस्तार भले ही अटका हो, लेकिन जबलपुर में एयरफोर्स बेस बनाने की हलचल है। वायुसेना ने कलेक्टर विवेक पोरवाल से जिले में एयरबेस तैयार करने के लिए जमीन मांगी है। सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही शहर के आसमान से एयरफोर्स के लड़ाकू विमान उड़ान भरते दिखाई देंगे। वहीं देश के मध्य में होने के चलते यह ऐसा एयरबेस होगा, जहां से पूरे देश में कहीं भी विमान उड़ान भर सकेंगे।


वायुसेना अधिकारियों ने पहले लगभग 5 हजार एकड़ जमीन डुमना एयरपोर्ट के नजदीक मांगी थी। फिलहाल डुमना एयरपोर्ट के विस्तार और तमाम कारणों से जमीन दे पाना मुश्किल नजर आ रहा है, क्योंकि डुमना एयरपोर्ट के लिए 469 एकड़ भूमि पहले से नगर निगम, राजस्व, निजी और वन भूमि को देने का प्रस्ताव तैयार हो चुका है।

कलेक्टर विवेक पोरवाल के मुताबिक कुण्डम इलाके में इतना बड़ा भूखण्ड मिल सकता है। जल्द ही वायुसेना के अधिकारी जबलपुर आकर कलेक्टर के साथ बैठक करेंगे। उसमें विस्तार से प्लानिंग की जाएगी। वायुसेना को जिले में सुरक्षित बेस बनाने लायक जगह नहीं मिली तो संभव है कि डुमना एयरपोर्ट की भूमि अधिग्रहित कर ली जाए। इससे पहले एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को अपना काम करना होगा।


प्रदेश में दूसरा एयरबेस

देश की सीमाओं से लेकर सेंट्रल इंडिया मिलाकर लगभग 65 से ज्यादा एयरबेस हैं। जबलपुर में बेस तैयार हुआ तो ये सेंट्रल इंडिया का 10वां और मध्यप्रदेश में ग्वालियर के बाद दूसरा एयरबेस होगा।


सामरिक ताकत बढ़ाएगा बेस

-जिले में पहले से मौजूद आर्डिनेंस फैक्टरी खमरिया, व्हीकल फैक्टरी, ग्रे आयरन फाउंड (जीआईएफ), गन कैरेज फैक्टरी (जीसीएफ), सेंट्रल आर्डिनेंस डिपो (सीओडी) जैसे महत्वपूर्ण रक्षा संस्थान मौजूद हैं।

- रक्षा संस्थानों में तैयार बम, गोला, बारूद, गन, बोफोर्स तोप से लेकर बड़ी और छोटी मिसाइलों तक को बड़ी आसानी से देश के किसी भी कोने तक ले जाने की सुविधा मिलेगी।

- पहले रेल मार्ग या सड़क मार्ग के जरिये ही ऐसा किया जा सकता था। लेकिन इंडियन एयर फोर्स के माल वाहन एयर क्राफ्ट से असला ले जाने का काम आसान होगा। एयरफोर्स की ओर से बेस बनाने के लिए भूमि की डिमाण्ड की गई है। कुछ दिनों में इस विषय पर एयरफोर्स अधिकारियों के साथ बैठक होगी।

-विवेक पोरवाल, कलेक्टर

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020