जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह नर्मदा महाआरती में शामिल नहीं होंगे। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय से इसकी अनुमति नहीं मिली है। यानी उनके पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों में किसी भी प्रकार का फेरबदल नहीं होगा। केंद्रीय गृह मंत्री शनिवार को शहर पहुंच रहे हैं। वे यहां गैरिसन ग्राउंड में जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके अलावा जो कार्यक्रम तय हुए हैं उनमें आदिवासी जननायक शंकरशाह एवं रघुनाथशाह के प्रतिमा स्थल पहुंचकर माल्यार्पण, जनजातीय नायकों का गौरव सम्मान, नारी शक्ति पर केंद्रित उज्‍ज्‍वला योजना व समृद्ध तथा आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश शामिल हैं। विदित हो कि गृहमंत्री के कार्यक्रमों में नर्मदा महाआरती को शामिल किए जाने को लेकर प्रदेश के संस्कृति मंत्रालय ने केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय को पत्र लिखा था। इससे अंदाजा लगाया जा रहा था कि अमित शाह ग्वारीघाट पहुंचकर नर्मदा दर्शन के साथ महाआरती भी कर सकते हैं, लेकिन एक दिन पूर्व ही केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने इसकी अनुमति देने से मना कर दिया।

पूर्व में कर चुके हैं नर्मदा महाआरती : गृह मंत्री अमित शाह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहते हुए जबलपुर आ चुके हैं। उस दौरान उनकी सभा वेटरनरी कालेज ग्राउंउ में हुई थी। श्री शाह ने तब ग्वारीघाट पहुंचकर नर्मदा दर्शन के साथ महाआरती की थी।

बूथ अध्यक्षों को भी संबोधित करेंगे : प्रशासनिक कार्यक्रमों के अलावा केंद्रीय मंत्री शहीद स्मारक में आयोजित होने वाले पार्टी स्तर के कार्यक्रम में भी शामिल होंगे। सांसद राकेश सिंह ने बताया कि इसके लिए गृह मंत्रालय की लिखित अनुमति पहुंच चुकी है। शनिवार को ही संसदीय क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों का सम्मलेन भी है जिसे गृहमंत्री संबोधित करेंगे।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local