जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। स्मार्ट सिटी के ठेकेदार मनमाने तरीके से काम कर रहे हैं। जिसका खामियाजा आने वाले दिनों में शहर की जनता को भुगतना होगा। इसका खुलासा निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ द्वारा स्मार्ट सिटी द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्यों के निरीक्षण के दौरान हुआ। निगमायुक्त ने पाया कि रानीताल, टेलीग्राफ गेट नंबर चार, गोलबाजार के चारों तरफ, कछियाना, होमसाइंस कालेज से शास्त्री ब्रिज रोड में स्मार्ट रोड बनाई जा रही है, लेकिन ठेकेदार नाली, पुलिया बनाने में लापरवाही बरत रहे हैं। सड़क की ऊंचाई के नीचे जहां भूमिगत नालियां बनाई जा रही है वहीं पुलिया को भी नालियों की लेविल में नहीं लगा गया है। जिससे बारिश के दिनों में जलभराव के हालात बन सकते हैं। निगमायुक्त ने टेलीग्राफ गेट नंबर चार के पास बेढंगी पुलिया व नाली निर्माण पर लिशा इंजीनियरिंग कंपनी के ठेकेदार को मौके पर ही पहले तो जमकर फटकार लगाई और पूर्व में दिए गए निर्देशों की अवहेलना करने पर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया। ये हिदायत भी दी गई कि तीन दिन के अंदर वर्षाजल निकासी की व्यवस्था के लिए मिलान का कार्य पूर्ण करें।

मिलान ही नहीं कर रहे ठेकेदार-

इसी तरह निगमायुक्त होम सांइस कालेज से शास्त्री ब्रिज तक बनाई जा रही भूमि गत नालियां देखी तो पाया कि यहां भी ड्रेन कई स्थानों पर आपस में जोड़ी नहीं गई है। कंजरवेंसी से भी कनेक्ट नहीं किया गया है। गोलबाजार रवि नगर पार्क टायर वाली गली की पुलिया निर्माण में भी लापरवाही सामने आई। निगमायुक्त ने ठेकेदारों को मानकों के अनुरूप पूर्व में दिए गए निर्देशों के तहत कार्य करने की चेतावनी दी है।

स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को चेताया

निगमायुक्त ने निरीक्षण के अंत में ठेकेदारों के साथ ही स्मार्ट सिटी के सहायक यंत्रियों और उपयंत्रियों चेताया। उन्होंने कहा कि यदि कनेक्टविटी के कार्यो में लापरवाही पाए जाने पर स्मार्ट सिटी के सहायक यंत्रियों, और उपयंत्रियों के विरुद्ध निलंबन करने की कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर स्मार्ट सिटी की सीईओ निधि सिंह राजपूत, नगर निगम के अधीक्षण यंत्री कमलेश श्रीवास्तव, स्वास्थ्य अधिकारी भूपेंद्र सिंह, सहायक यंत्री बाहुवली जैन आदि मौजूद रहे।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close