जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पूर्व पुलिस ने शुक्रवार से जिले में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। बाहर से 500 जवानों का अतिरिक्त बल पहुंच चुका है तथा 100 से ज्यादा निजी वाहन पुलिस ने अधिग्रहित कर लिए हैं। शहर में 200 से ज्यादा फिक्स पाइंट पर पुलिस जवान तैनात किए जा रहे हैं वहीं आधा सैकड़ा से अधिक पेट्रोलिंग वाहन की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। शनिवार सुबह साढ़े 10.30 बजे फैसला आने की खबर मिलते ही पुलिस कंट्रोल रूम में रात में एसपी अमित सिंह ने अधीनस्थों की आपात बैठक बुलाई और सुरक्षा व्यवस्था लेकर चर्चा की। वहीं धर्माचार्यों ने भी सभी धर्मानुरागियों से फैसले का सम्मान करते हुए शहर शांति व्यवस्था, भाईचारा बनाए रखने की अपील की है।

शनिवार को सुबह 8 बजे शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल को तैनात कर दिया जाएगा। इधर, धारा 144 लागू होने के साथ ही धर्मस्थलों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। अफवाह फैलाकर गड़बड़ी का प्रयास करने वालों को चिन्हित कर पुलिस ने दो टूक चेतावनी दी है।

थाने में ही रुके पुलिसकर्मी, अवकाश रद्द-

शनिवार सुबह फैसला आने की खबर मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक ने पुलिस जवानों को रात में थाने में ही रुकने के निर्देश दिए। पुलिसकर्मियों के सभी तरह के अवकाश पर तत्काल रोक लगा दी गई। बताया जाता है कि करीब 4 हजार पुलिसकर्मियों की सुरक्षा व्यवस्था में ड्यूटी लगाई गई है।

जिले की सीमाओं पर नाकाबंदी, सख्ती-

पुलिस ने जिले की सीमाओं पर नाकाबंदी कर सख्ती बढ़ा दी है। हर आने-जाने वाले वाहन की सघन जांच की जा रही है। पुलिस अधीक्षक ने निर्देश दिया कि रात्रि में सड़कों पर घूमने वालों को पूछताछ व दस्तावेजों की जांच के बाद ही आगे जाने दिया जाए।

यह होगा पुलिस वाहनों में-

पुलिस मोबाइल वाहनों में बलवा ड्रिल सामग्री, अश्रुगैस ग्रेनेड व सेल, वीडियो कैमरा, टार्च, पीए सिस्टम की व्यवस्था की जा चुकी है। पुलिस अधीक्षक ने निर्देश दिए हैं कि विघ्नसंतोषी तत्वों व अफवाह फैलाने वालों को किसी भी कीमत पर न बख्शा जाए।

5 मिनट में पहुंच जाएगी पुलिस-

शांति व्यवस्था में किसी भी तरह का खिलवाड़ करने की कोशिश महंगी पड़ सकती है। 4 हजार जवानों को शहर में इस तरह ड्यूटी पर लगाया गया है कि आवश्यक होने पर सैकड़ों जवान शहर में कहीं भी 5 मिनट के भीतर पहुंच सकेंगे। ग्रामीण क्षेत्र में 7 से 10 मिनट के समय में पुलिस की टुकड़ी पहुंच जाएगी।

अयोध्या प्रकरण में सर्वोच्च न्यायालय का जो भी फैसला आए उसे जनमानस शिरोधार्य करे। बिना अनुमति के किसी भी तरह का जुलूस या प्रदर्शन करने पर कार्रवाई की जाएगी। विघ्नसंतोषियों से सख्ती से निपटा जाएगा। आम नागरिकों से पुलिस द्वारा हाल ही में किए गए संवाद में यह स्पष्ट हो चुका है कि संस्कारधानी की जनता अमन चैन पसंद है। - अमित सिंह, एसपी

Posted By: Nai Dunia News Network