जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रानी अवंती बाई लोधी सागर परियोजना बरगी बांध में पानी की आवक कम होते ही खुले गेटों की ऊंचाई भी कम कर दी गई है। शनिवार को करीब सवा मीटर तक खुले गेटों की ऊंचाई कम कर आधा मीटर कर दी गई है। हालांकि बाध का जलस्तर 421. 60 मीटर पर बना हुआ है।

बरगी बांध के कार्यपालन यंत्री अजय सूरे ने बताया कि बांध के जलभराव क्षेत्र में बारिश थम गई है। इस वजह से बांध में प्रवेश कर रहे पानी की मात्रा भी कम हो गई। शनिवार की शाम तक जहां बांध में 1164 क्यूमेक पानी प्रति सेकंड प्रवेश कर रहा था वहीं रविवार की शाम को यह घटकर 732 क्यूमेक प्रति सेकंड हो गया था। इसीलिए एकमीटर 20 सेंटीमीटर की ऊंचाई तक खुले गेटों की ऊंचाई कम कर आधा मीटर कर दी गई है। अब गेटों से प्रति सेकंड 546 क्यूमेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसके अलावा पावर हाउस के लिए अगल से पानी छोड़ा जा रहा है। बांध की अधिकतम जलभराव क्षमता 422.76 मीटर है। चूंकि बारिश का अंतिम दौर चल रहा है इसलिए बांध जितना भरा है वह लेवल मेंटेन किया जा रहा है। अगले निचले क्षेत्रों में अगले 24 घंटे में बारिश नहीं हुई तो बांध के खुले गेटों में से कुछ को बंद करने का निर्णय भी लिया जा सकता है।

विदित हो कि इस बार बरगी बांध के गेट काफी लेट खुले थे। अब बारिश न हाेने से इन्‍हें धीरे-धीरे बंद किया जाएगा। हालांकि लोग इस सुंदर नजारे को देखने बड़ी संख्‍या में पहुंचे।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local